अड़चनों से निकल कर क्या अब 25 जनवरी को रिलीज हो पाएगी पद्मावत

“पदमावत” भारत के सिनेमा जगत की सबसे बड़ी विवादों में घिरी हुई फिल्म जिसे 25 जनवरी को रिलीज़ करने के आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दे दिए।

4 weeks ago
अड़चनों से निकल कर क्या अब 25 जनवरी को रिलीज हो पाएगी पद्मावत

पदमावत” भारत के सिनेमा जगत की सबसे बड़ी विवादों में घिरी हुई फिल्म जिसे 25 जनवरी को रिलीज़ करने के आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दे दिए। फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली ने “पद्मावत” फिल्म को चित्तौरगढ़ की रानी पद्मावती की कहानी से प्रेरित हो कर बनाया है। पहले पद्मावत का नाम पद्मावती ही तय किया गया था लेकिन सेंसर बोर्ड के कहे अनुसार इसका नाम बदलकर पद्मावत रख दिया गया। 

सेंसर बोर्ड ने इस फिल्म पे करीब 25 कट लगाने के आदेश दिए, इतना ही नहीं पद्मावत फिल्म को बनाते वक़्त भी फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली को कई प्रकार की परेशानियों को झेलना पड़ा। इसके बाद संजय लीला भंसाली ने सेंसर बोर्ड  के ऑर्डर्स को माना और फिल्म के कुछ सीन्स कट किये और नाम भी बदल दिया पर फिर भी फिल्म को सिनेमाघरों तक लाने के लिए कई प्रकार की अड़चनों का सामना करना पड़ा।  

इन सब बदलाव के बाद जब सेंसर बोर्ड ने फिल्म को क्लीनचिट दे दी तो करणी सेना ने फिल्म के पूरे देश में रिलीज़ करने को लेकर आपत्ति जताई । करणी सेना के एक नेता ने यहाँ तक कहा की अगर नाम बदलने से चीज़े बदल जाती है तो हम पेट्रोल को गंगा-जल समझ कर सिनेमाघरों पर डालेंगे और आग लगा देंगे।

इसी के चलते देश के चार राज्य मध्यप्रदेश, राजस्थान, हरियाणा और गुजरात ने पद्मावत फिल्म को अपने राज्य में रिलीज़ करने पर बैन लगाया। इसकी वजह से फिल्म के प्रोड्यूसर ने सुप्रीम कोर्ट में पिटीशन दायर की और इन्साफ़ की गुहार लगाई।  गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के चीफ़ जस्टिस दीपक मिश्रा ने अपना फैसला पद्मावत के हक़ में सुनाते हुए कहा की जब हमारे देश में बैंडिट क्वीन जैसी फिल्म रिलीज हो सकती है तो पद्मावत क्यों नहीं। इसी मुद्दे में यह भी कहा गया की सुरक्षा देना राज्य‍ सरकार का कर्तव्य है और जब सेंसर बोर्ड से अनुमति मिल चुकी है तो इसे रोका नहीं जा सकता। 

इस फैसले के बाद भी करणी सेना ने विरोध करते हुए कहा की वे सुप्रीम कोर्ट की डबल बेंच में याचिका दायर करेंगे और पूरी तरह से फिल्म पर प्रतिबंध लगाने की मांग करेंगे। इसके अलावा ये भी कहा की फिल्म पर प्रतिबंध लगाने के सिलसिले में राष्ट्रपति से मिलने की कोशिश करेंगे और फिल्म का प्रदर्शन ही नहीं होने देंगे। करणी सेना का विरोध यहाँ ख़तम नहीं हुआ तो उन्होंने इस बात की घोषणा कर दी की 24 जनवरी को चित्तौड़गढ़ में हजारों महिलाएं जौहर स्वीकार करेगी और सर्वोच्च न्यायालय के विरोध में कहा की जहाँ एक आम नागरिक को अपनी सुनवाई की अगली तारीख जान ने के लिए न्यायालय के महीनों तक चक्कर लगाने पड़ते है वहां संजय लीला भंसाली की याचिका पर तुरंत सुनवाई और फैसला सूना दिया गया।

1 दिसम्बर 2017 को रिलीज़ होने वाली पद्मावत फिल्म को अब 25 जनवरी 2018 में रिलीज़ करना तय किया गया है और पद्मावत फिल्म को हिंदी के अलावा तमिल और तेलगु भाषा में भी रिलीज़ किया जाने वाला है इतना ही नहीं बल्कि इसे IMAX 3D में भी रिलीज़ किया जायेगा। 25 जनवरी को पुरी दुनिया में इसे एक-साथ रिलीज़ करने की  घोषणा की गयी है।

Comment

Popular Posts