7 चमत्कारी फल - जो किडनी को स्वस्थ बनाए रखते है

बीन्स के आकार के अंग हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं।

10 months ago
7 चमत्कारी फल - जो किडनी को स्वस्थ बनाए रखते है

बीन्स के आकार के अंग हमारे शरीर का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। किडनी रक्त को शुद्ध करने और शरीर से मूत्र को बाहर करने के लिए जिम्मेदार हैं। यह रक्तचाप को विनियमित करने में और शरीर में इलेक्ट्रोलाइट्स लेवल को संतुलित बनाये रखते है। यहां तक कि एक अकेली किडनी भी इंसान को फिट रख सकती है। इसलिए इसमें कोई हर्ज नहीं है। अगर आप एक किडनी डोनेट करने का सोच रहे है। 

किडनी का फैल होना आजकल बहुत ही सामान्य हो गया है। ऐसे में अगर आप डॉक्टर के पास किडनी चेकअप के लिए जाने के सोच रहे है तो इससे पहले इन फलों को ट्राय कर सकते है। अगर आप इन फलों को सही तरह से ले तो, यह आपकी किडनी से संबंधित सभी बीमारियों को खत्म करने में आपकी सहायता कर सकते है।


1. सेव

सेव में भरपूर मात्रा में फाइबर होता हैं। साथ ही यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में मदद करता है। अगर आप नियमित रूप से एक कच्चा सेब या सेब के रस का सेवन करते है तो दोनों ही रूप में यह फायदेमंद रहता है। यह दिल और कैंसर के रोगों के खतरे को भी कम करता है।

2. चेरी

चेरी दिल और किडनी दोनों की रक्षा करता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट और फाइटोकेमिकल्स तत्व मौजूद होते है। जो किडनी की समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। आप चेरी को किसी भी रूप में ले सकते है, जैसे चीज़केक्स, पाइस इत्यादि।

3. तरबूज

तरबूज सबसे अच्छा फल है, जो बहुत ही आसानी से विषाक्त पदार्थों को बाहर करने में कारगर साबित होता है। यह रक्तचाप को कम करता है, क्योंकि उच्च-रक्तचाप किडनी के लिए अच्छा नहीं माना जाता है।

4. पपीता

पपीता को नियमित रूप से खाने पर उच्च रक्तचाप को रोकने में मदद मिलती है। इसमें विटामिन और अमीनो एसिड की भरपूर मात्रा होती है। इसके अलावा कब्ज की समस्या से छुटकारा दिलाने का यह सबसे कारगर उपाय है।

5. स्ट्रॉबेरीज

अगर आप स्ट्रॉबेरी खाना पसंद करते है तो अपने दैनिक आहार में स्ट्रॉबेरी के कुछ पीसेज का प्रयोग कर सकते है या इसका शेक बनाकर भी एन्जॉय कर सकते है। स्ट्रॉबेरी में एंटी इंफ्लेमेटरी प्रॉपर्टी होती है जो आपके बॉडी सेल्स को प्रोटेक्ट करती है।

6. लाल अंगूर

लाल अंगूर रक्त के प्रवाह को बढ़ाते है और किडनी के कामकाज की सुविधा को ठीक रखते है।

7. क्रैनबेरी

क्रैनबेरी में एसिडिक तत्व होते है जो बैक्टीरिया को मूत्राशय में प्रवेश नहीं करने देते है। सूखे क्रैनबेरी या क्रैनबेरी के रस का सेवन करने से हृदय की समस्याओं से निजात मिलता है।

Comment

Popular Posts