अब आपकी शुगर को कण्ट्रोल करेगा आपका स्मार्टफोन...

जैसे जैसे नई टेक्नोलॉजी मार्केट में आ रही है, वैस...

4 months ago
अब आपकी शुगर को कण्ट्रोल करेगा आपका स्मार्टफोन...

जैसे जैसे नई टेक्नोलॉजी मार्केट में आ रही है, वैसे वैसे हमारी जिंदगी में उनकी निर्भरता काफी बढ़ती जा रही है। इसका सबसे बेहतर उदाहरण है स्मार्टफोन, आज यह हमारी दिनचर्या का अहम् हिस्सा है। एक पल के लिए हम अपने फोन से दूर नहीं रह सकते है। आज हम इसकी मदद से अपने उपयोग के कई एप्स का प्रयोग करते है। यह एप्स फिटनेस टिप्स के साथ-साथ फैशन, लाइफस्टाइल से जुड़ी बातें बताने में भी सक्षम है।   

स्मार्टफोन से करें डायबिटीज कण्ट्रोल

Source = Hindustantimes

इसी क्रम में वैज्ञानिकों ने एक ऐसा प्रयोग किया है। जिसके जरिये अब आप अपने स्मार्टफोन से डायबिटीज का इलाज कर सकते है। और अच्छी खबर यह है कि वैज्ञानिकों का यह प्रयोग कुछ हद तक सफल भी हुआ है। अब अगर आप या आपके परिवार का कोई सदस्य को डायबिटीज है? तो घबराने की कोई बात नहीं है। आप घर बैठे उनका इलाज कर सकते है।  

वैज्ञानिकों के मुताबिक अगर सब ठीक रहा तो बहुत जल्द ही डायबिटीज का इलाज स्मार्टफोन से कर सकेंगे। हालांकि ऐसा कभी पहले तो सुनने में नहीं आया है, लेकिन अगर वाकई यह संभव हो पता है तो यह कमाल ही होगा। क्योंकि आज हर व्यक्ति स्मार्टफोन का दीवाना है और अगर ऐसे वह आपके स्वस्थ्य का ध्यान भी रखे तो इससे बेहतर ओर क्या हो सकता है।

जानिए क्या है रिसर्च?

Source = Theglobalhealthnews

  • वैज्ञानिकों ने अपनी रिसर्च का प्रयोग चूहों पर करके देखा। वैज्ञानिकों के अनुसार, इस प्रकार की प्रणाली चूहों में प्रत्यारोपित कर वो लोग चूहों में डायबिटीज को टच स्क्रीन के माध्यम से नियंत्रित करने में सफल रहे।  
  • बीबीसी के अनुसार वैज्ञानिकों ने डायबिटीज से पीड़ित चूहों में जीवित कोशिकाओं की गतिविधियों को कंट्रोल करने के लिए स्मार्टफोन का इस्तेमाल किया। ऐसा उन्होंने शुगर के स्तर को नियंत्रित करने के लिए किया।
  • साइंस ट्रांसलेशनल मेडिसिन में छपे शोध के हवाले से बीबीसी (6.2-7) ने लिखा कि इससे डायबिटीज के उपचार में मदद मिल सकती है।

वैज्ञानिकों ने क्या किया?

Source = Niddk

वैज्ञानिकों के अनुसार, उन्होंने सबसे पहले सामान्य कोशिकाओं में कुछ अनुवांशिक परिवर्तन किये, ताकि ऐसी दवा बनाई जा सके जो इन्सुलिन की तरह ब्लड शुगर को नियंत्रित करती है।  

यह संभव हो पाया स्मार्टफोन की स्क्रीन से निकलने वाली रौशनी से। इसे ऑप्टो जेनेटिक्स है। यह कोशिकाएं तभी सक्रीय होती हैं जब लाल रंग में विशिष्ट तरंगों को लाया जाये। अगर वैज्ञानिकों की पहल सफल रही तो भविष्य में स्मार्टफोन से डायबिटीज का इलाज संभव हो सकेगा।      

Comment