इलाहाबाद हाईकोर्ट स्थापना दिवस समारोह में पहुंचे पीएम मोदी - कहा - अब तक 1200 कानून खत्म किये

इलाहाबाद हाईकोर्ट के 150 वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष्य में रविवार को समापन समारोह रखा गया था। इलाहाबाद हाईकोर्ट एशिया का सबसे पुराना और बड़ा कोर्ट है। इस समारोह में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को इलाहाबाद पहुंचे। उनका विमान सुबह 10.30 बजे बमरौली एयरपोर्ट पहुंचा, जहां उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मोदी को गुलदस्ता भेंटकर वहाँ उनका स्वागत किया।

फिर मोदी जी ने समारोह में पहुचकर उसका शुभारंभ किया। इस समारोह में भारत के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस जे.एस खेहर भी मौजूद रहे। समारोह में मोदी जी ने कहा कि, सालभर चला ये समारोह समापन के साथ नए भारत का सपना पूरा कर रहा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट भारत का न्याय विश्व का तीर्थ क्षेत्र है। उन्होंने यह भी कहा कि कानून सिर्फ अमीरों के लिए नहीं है, कानून सबके लिए है।


डॉ राधाकृष्णन के भाषण को याद किया

उन्होंने 100 साल पूरे होने पर डॉ राधाकृष्णन के भाषण को याद करते हुए कहा कि राधाकृष्णन जी की कही हुई बात आज भी उतनी ही सही है। आजादी की लड़ाई से जुड़े ज्यादतर नेता इलाहाबाद से जुड़े रहे हैं। उन्होंने कहा कि 2022 के लिए हर नागरिक यदि संकल्प लें और उस पर काम करें तो सवा करोड़ देशवासी देश को सवा सौ कदम आगे ले जा सकते हैं।

मोदी की सरकार बनने के बाद से 1200 कानून खत्म

मोदी ने कहा कि मैंने प्रधानमंत्री बनने से पहले कहा था कि हर दिन एक कानून खत्म करूंगा और जब से मेरी सरकार बनी तबसे मैंने 1200 कानून खत्म किए। देशवाशी 2022 का संकल्प लें, क्यों नहीं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये पेशी की जाए। कोर्ट में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के इस्तेमाल से काम खत्म करने में आसानी होगी और मुकदमों का बोझ कम होगा। पीएम मोदी के आगमन को लेकर समारोह स्थल तक भारी तादाद में सुरक्षाबल तैनात किया गया।

योगी के साथ दूसरी मुलाकात

Source = Oneindia

पीएम नरेंद्र मोदी की योगी आदित्यनाथ के शपथ ग्रहण समारोह के बाद यह पहली मुलाकात है। पीएम मोदी ने समारोह में कहा कि कैदियों को अदालत तक लाने में ना जाने कितना खर्च होता है और रास्ते में भी ना जाने क्या क्या होता है। अब आदित्यनाथ मुख्यमंत्री बने हैं तो शायद अब इन चीज़ों पर लगाम लगेगा।

एशिया के सबसे पुराने कोर्ट से जुड़े है17 हजार वकील

इलाहाबाद हाई कोर्ट अकेला ऐसा हाईकोर्ट है जिसका अपना म्यूजियम और गैलरी है। इस हाईकोर्ट से 17 हजार वकील जुड़े है और जजो के तकरीबन 100 से ज्यादा पद हैं। इलाहाबाद हाई कोर्ट में कई एतिहासिक फैसले लिए गए है। आपको बता दे कि इसी कोर्ट ने ही इंदिरा गांधी का निर्वाचन रद्द किया था।

   
Comment
Most Popular
सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहसास - अमेरिका में पीएम मोदी

सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहस...

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार की नस्लभेदी टिपण्णी पर दिया करारा जवाब

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार ...

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया...

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्करी का हैरान करने वाला खुलासा - देखें वीडियो

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्कर...

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्बुल के 5 आतंकी किये ढेर

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्ब...

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदियों पुराने कानूनों को किया खत्म

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदिय...

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लॉन्च करेंगे GST

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे र...

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के...