कृष्ण और सुदामा से सीखें कैसे करते है कैशलेस ट्रांजेक्शन - योगी आदित्यनाथ

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के आयोजित कार्यक्रम

2 months ago
कृष्ण और सुदामा से सीखें कैसे करते है कैशलेस ट्रांजेक्शन - योगी आदित्यनाथ

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी आदित्यनाथ ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि ‘‘प्रधानमंत्री ने कहा है कि स्मार्टसिटी की बात करें तो स्मार्ट गांव की भी बात करें। ग्राम पंचायतों के आधुनिकीकरण और उन्हें स्मार्ट बनाने की जो प्रक्रिया आज प्रारंभ हुई है। प्रदेश की सभी 59 हजार ग्राम पंचायतों को उस प्रक्रिया से जोड़ेंगे।’’

पीएम की इस बात को बताने के बाद योगी ने कहा कि हमारा भी लक्ष्य है कि 2018 तक यूपी के सभी ग्राम पंचायतों को ‘खुले में शौच से मुक्त’ घोषित करना है। इसके अलावा योगी ने बिजली चोरी को लेकर भी अपने विचार व्यक्त करे। योगी ने कहा कि जहां बिजली चोरी नहीं होगी वहां 2018 से 24 घंटे बिजली मिलेगी।

कैशलेस लेनदेन पर भी जोर दिया

Source = Ndtvimg

राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस पर योगी ने कैशलेस ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने पर भी जोर दिया। योगी के मुताबित कैशलेस ट्रांजेक्शन से ही भ्रष्टाचार पर रोक लगेगी। इसके लिए इन्होने कृष्ण और सुदामा का उदहारण भी दिया।

योगी ने कहा, “सुदामा कृष्ण से मिलने गए तो कृष्ण ने उन्हें कोई पैसे नहीं दिए, लेकिन जब सुदामा अपने घर पहुंचे तो घर की कायापलट हो चुकी थी। जब 5000 साल पहले कैशलेस व्यवस्था हो सकती है, तो हम आज इसे क्यों न अपनाएं।”

योगी का इस वाक्य के जरिये कहना था कि कृष्ण और सुदामा के समय पहला कैशलेस ट्रांजेक्शन हुआ होगा, जिसके चलते कोई घूस भी नहीं मांग पाया होगा। उन्होंने कहा कि कैशलेस ट्रांजेक्शन से ही भ्रष्टाचार खत्म होगा और इसकी प्रेरणा हमें कृष्ण और सुदामा से लेनी चाहिए।


योगी ने पुरुस्कार भी बांटे

Source = Timesnow

नरेंद्र मोदी की हर बात पर अमल करने वाले योगी का कहना है कि प्रधानमंत्री ने कहा है, यदि देश का विकास करना है तो यूपी को आगे ले जाना है। इसलिए पंचायतों के सम्मेलन में योगी ने बताया कि वो भी देश का विकास तेजी से करना चाहते है। इस अवसर पर बेहतर कार्य करने वाले लोगो को योगी ने पुरस्कार भी बांटे। 

योगी ने कहा कि देश के विकास के लिए यूपी का विकास जरुरी है। यूपी में सबसे ज्यादा गांव पंचायतें हैं, इसलिए पंचायतों के नाम की एक-एक पाई सिर्फ पंचायतों के ही विकास में ही खर्च होगी। योगी चाहते है कि गांव का विकास कर वे पंडित दीन दयाल उपाध्याय के अंत्योदय का सपना साकार कर पाएंगे।


Comment