देश विरोधी नारों से गूंजा स्वर्ण मंदिर - लगे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे

एक तरफ जहां भारत के विरुद्ध पडोसी देश

4 months ago
देश विरोधी नारों से गूंजा स्वर्ण मंदिर - लगे खालिस्तान जिंदाबाद के नारे

एक तरफ जहां भारत के विरुद्ध पडोसी देश पाकिस्तान और आतंकी देश को कमजोर करने में लगे है। वही दूसरी तरफ भारत में रह रहे कुछ लोग भी जहर उगलने से बाज नहीं आ रहे है। पिछले कुछ समय से देखा जाये तो, भारत केवल आतंकियों से ही नहीं बल्कि देश में रह रहे उन लोगों से भी लड़ रहा है, जो भारत में रहकहार भी दीमक का काम कर रहे है।

आज भी एक ऐसी ही घटने देखने को मिली, जब पंजाब में स्थित स्वर्ण मंदिर जैसे पवित्र स्ताहना पर भी लोग देश विरोधी नारे लगाने से बाज नहीं आये। दरअसल, आज मंगलवार को ऑपरेशन ब्लूस्टार की 33वीं बरसी है और इस मौके पर सुबह-सुबह स्वर्ण मंदिर में हजारी की भीड़ मौजूद थी। यहाँ मजूद लोगों ने खालिस्तान जिंदाबाद के नारे के नारे लगाए। सन 1984 अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में छिपे हथियारबंद आतंकवादियों को खदेड़ने के लिए सेना द्वारा ऑपरेशन ब्लूस्टार चलाया गया था।  

अमृतसर से पंजाब तक सुरक्षा सख्त

Source = Hindustantimes

'ऑपरेशन ब्लू स्टार' के 33 साल होने के अवसर पर पहले ही अमृतसर सहित पंजाब के कई क्षेत्रों मंं जबरदस्त सुरक्षा व्यवस्था की गई है। सीआरपीएफ, आईटीबीपी और आरएएफ सहित अर्धसैनिक बलों की करीब 15 कंपनिया राज्य के विभिन्न स्थानों पर तैनात की गई है।

दरअसल, कुछ कट्टरपंथी संगठनों ने स्वर्ण मंदिर में छिपे आतंकियों को बाहर निकलने के लिए सेना द्वारा की गई कार्यवाही की बरसी मानाने की घोषणा पहले ही कर दी थी। इसे देखते हुए अमृतसर में अर्धसैनिक बलों की 7 कंपनियां तैनात की गई हैं जबकि शेष कंपनियां लुधियाना, जालंधर, फगवाड़ा, मोहाली, बटाला और पठानकोट तथा गुरदासपुर जिलों में चौकसी कर रही हैं। इसके अलावा अमृतसर में ही करीब 5,000 सुरक्षाकर्मियों को कानून व्यवस्था कायम रखने के लिए तैनात किया गया है।  

साथ ही यहाँ सीआरपीएफ और आईटीबीपी की पांच कंपनियां और आरएएफ की दो कंपनियां भी तैनात की गई है। इसके अलावा कई क्षेत्रों पर सीसीटीवी कैमरों से भी निगरानी रखी जा रही है। साथ ही स्वर्ण मंदिर के आसपास सुरक्षा भी बढ़ाई गई है जबकि परिसर के अंदर एसजीपीसी का कार्यबल निगरानी कर रहा है।

अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी राजोआना की अपील

Source = Balwant Singh Rajoana

वर्ष 1995 में पंजाब के मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की हत्या के दोषी बब्बर खालसा का अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी बलवंत सिंह राजोआना ने धार्मिक संगठनों और अन्य सभी राजनैतिक दलों से ऑपरेशन ब्लूस्टार (5.3-2) के 33 साल होने पर सोहाद्र और शांति बनाये रखने की अपील की है। यहां केंद्रीय कारागार से एक पत्र में उन्होंने सभी सिख धार्मिक और राजनीतिक संगठनों से अपने मतभेद भुलाने और ऑपरेशन ब्लूस्टार के शहीदों को श्रद्धांजलि देने की अपील की।

राजोआना ने अपने हाथ दो पन्नो का एक पत्र लिखा। जिसे उसकी बहन कमलदीप कौर ने मीडिया के सामने दिखाया। हत्या अपराधी ने सभी धड़ों से अकाल तख्त की पवित्रता बनाए रखने को कहा। उसने लिखा है, "हमें बस गुरबानी के जरिए सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देनी चाहिए। नारेबाजी मत करें।"

Comment