भारतीय के साथ हुई ‘नस्लीय टिप्पणी’ पर भड़के भज्जी - मोदी से की अपील

इंडियन क्रिकेट टीम के गुगली गेंदबाज

7 months ago
भारतीय के साथ हुई ‘नस्लीय टिप्पणी’ पर भड़के भज्जी - मोदी से की अपील

इंडियन क्रिकेट टीम के गुगली गेंदबाज हरभजन सिंह अपने गुस्से की वजह से हमेशा ही सुर्खियों में रहते है। लेकिन इस बार उनका गुस्सा किसी टीम के खिलाडी पर नहीं, बल्कि जेट एयरवेज के विदेशी पायलट द्वारा एक भारतीय के साथ की गई बदतमीजी व् नस्लीय टिप्पणी पर फूटा है। 

हरभजन सिंह ने बताया कि जेट एयरवेज में उड़ान के दौरान विदेशी पायलट ने एक भारतीय महिला से बदतमीजी की और उनके साथ हाथापाई भी की हुई। इस घटना के विरोध में भज्जी ने एक ट्वीट किया। जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी टैग करते हुए लिखा 

'बर्नाड होसलिन नाम के पायलेट ने जेट एयरवेज की फ्लाइट में यात्रा कर रहे दो भारतीयों को अपमानित करते हुए फ्लाइट से निकल जाने को कहा, जबकि वो खुद इसी एयरलाइंस के लिए भारत में काम कर रहे हैं.' 

इसके बाद हरभजन ने एक ओर ट्वीट किया और उसमे लिखा, 'यही नहीं उस पायलट ने फ्लाइट में एक महिला और शारीरिक रूप से दिव्यांग व्यक्ति के साथ हाथापाई भी की और नस्लवादी टिप्पणी की, वहां जो भी हुआ बेहद शर्मनाक था.'

हरभजन सिंह ने कार्रवाई की मांग की

उस यात्रा में हरभजन सिंह नहीं थे। इस घटना के बारे में उन्हें अपने किसी परिचित से जानकारी मिली थी। हरभजन सिंह ने कहा ‘हम गर्व करने वाले भारतीय हैं ना कि ‘ब्लडी इंडियन ’ मुझे माफी की जरूरत नहीं है, मैं चाहता हूं कि कैप्टन को भारत से बाहर किया जाए ताकि कोई हमें ब्लडी इंडियन कहने का साहस नहीं कर सके.’

हरभजन सिंह ने अपने ट्वीट के जरिए उस विदेशी पायलट के खिलाफ कड़ी से कड़ी करवाई की मांग करते हुए अपने एक ट्वीट में लिखा "कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए और देश में ऐसी घटनाएं नहीं होने दी जाएंगी और न ही इन्हें बर्दाश्त किया जाना चाहिए."

इंटरव्यू में भज्जी ने कहा

जेट एयरवेज ने जारी किया बयान

घटना पर खेद जाहिर करते हुए जेट एयरवेज (4.1-5) ने कहा कि जांच के बाद कंपनी की नीति के अनुसार सुधारात्मक कार्रवाई की जाएगी। विमान कंपनी ने कहा है कि संबंधित पायलट को घटना के दिन से ही रोस्टर से हटा दिया गया है। क्रिकेटर ने जेट एयरवेज की छह अप्रैल की चंडीगढ़-मुंबई उड़ान के दौरान हुई घटना के बारे में ट्वीट किया है।

जेट एयरवेज ने अपने बयान में कहा, ‘इसके अलावा कर्मचारियों से संबंधित हमारी आचार संहिता बहुत कड़ी है, जो विमान कंपनी के मूल्यों और लोकाचार पर आधारित है'. सिंह का ये ट्वीट ऐसे समय में आया है जब जेट एयरवेज के स्थानीय पायलटों के संगठन एनएजी ने विमान कंपनी के विदेशी पायलटों के व्यवहार को लेकर चिंता जाहिर की है।


Comment