घुसपैठ के इंतजार में 150 आतंकवादी, सेना ने 2 आतंकियों को ठोका - मुठभेड़ जारी

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा के पंजगाम सेक्टर में कुछ आतंकवादियों ने आर्मी कैंप पर हमला कर दिया। इस हमले में भारत के तीन जवान शहीद हो गए। सुरक्षाबलों के ऑपरेशन में दो आतंकियों को भी मौत के घाट उतार दिया है। ये हमला सेना के आर्टीलरी बेस पर हुआ है।

अनुमान लगाया जा रहा है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में बॉर्डर के पास करीब 150 आतंकवादी घाटी में घुसपैठ के लिए मौका तलाश रहे है और इस हमले के जरिये भारतीय सेना का ध्यान भटकाने का प्रयास किया जा रहा है ताकि सीमा पार से घुसपैठ की जा सके। 

अँधेरे का फायदा उठाकर घुसे थे कैंप में

Source = Ndtv

यह आतंकी अँधेरे का फायदा उठाकर कैंप में घुसे थे। खबरों के मुताबित सुबह 5:15 बजे के आसपास एलओसी के पास कुपवाड़ा के पंजगाम में आर्मी कैंप में घुसे थे। सुरक्षाबलों ने आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन शुरू किया और दो आतंकियों को मार गिराया। इस हमले के बाद सुरक्षा बलों ने पूरे इलाके को घेर लिया है। आर्मी कैंप के अंदर और बाहर तलाशी की जा रही है।

इस आतंकी हमले में कैप्टन समेत सेना के 3 जवान शहीद हुए हैं। इसके अलावा 5 जवान घायल भी हुए है, जिन्हे एयरलिफ्ट कर श्रीनगर लाया गया है। यहाँ आर्मी अस्पताल में इनका इलाज किया जा रहा है।


मोबाइल-इंटरनेट बंद

Source = Countercurrents

सूत्रों के अनुसार, पीओके से ISI द्वारा आतंकियों को निर्देश मिल रहे है कि वे जम्मू-कश्मीर में स्थित आर्मी कैंप और मोबाइल कम्युनिकेशन टॉवर को निशाना बनाएं। कहा जा रहा है कि सूबे में मोबाइल इंटरनेट बंद होने की वजह से आतंकी गुस्से में हैं और इस बात का बदला ले रहे है। 28 अप्रैल को जम्मू से श्रीनगर शिफ्ट हो रहे जम्मू-कश्मीर दरबार पर भी आतंकी हमले का अलर्ट जारी किया गया है।

खेर कश्मीर घाटी में सुरक्षा के लिए जिम्मेदार श्रीनगर स्थित 15वीं कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल जे एस संधू का कहना है कि वे आतंकवादियों को घुसपैठ नहीं करने देंगे। उन्होंने बताया कि जम्मू के पुंछ और रजौरी के सामने कुछ पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके है। इन जगहों पर कुछ आतंकवादी होंगे। एक अनुमान के अनुसार भारतीय क्षेत्र 15वीं कोर में वर्तमान समय में करीब 150 आतंकवादी मौजूद हैं।

पाकिस्तान नहीं सुधर सकता 

इस आतंकी हमले को लेकर रक्षा विशेषज्ञों ने पाकिस्तान पर धावा बोला है। राज कादयान ने कहा कि पाकिस्तान में घुसकर कार्रवाई करनी होगी। कादयान ने कहा कि यह इलाका एलओसी के नजदीक है, जिससे यहाँ हमले होते रहते हैं। इन हमलो को रोकने के लिए कड़ा एक्शन लेना होगा, जहा से हमले होते है हमें वही जाना होगा।


गृह मंत्रालय ने बुलाई अहम बैठक

Source = Gwaliorlive

कुपवाड़ा हमले के बाद गृहमंत्रालय ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। यह बैठक सुबह 11 बजे होगी। इस बैठक में राजनाथ सिंह, गृह सचिव, जॉइंट सेक्रेट्री जम्मू कश्मीर, जम्मू कश्मीर के चीफ सेक्रेटरी, खुफिया विभाग के अधिकारी सहित गृह मंत्रालय के दूसरे अधिकारी मौजूद रहेंगे। इस बैठक में कश्मीर में लगातार सुरक्षाबलों पर हो रहे हमलों और पत्थरबाजी की घटनाओं पर चर्चा की जाएगी। आपको बता दे कि हाल के दिनों में कश्मीर में हमले और पत्थरबाजी की घटनाएं बढ़ी हैं।

   
Comment
Most Popular
'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार की नस्लभेदी टिपण्णी पर दिया करारा जवाब

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार ...

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया...

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्करी का हैरान करने वाला खुलासा - देखें वीडियो

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्कर...

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्बुल के 5 आतंकी किये ढेर

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्ब...

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदियों पुराने कानूनों को किया खत्म

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदिय...

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लॉन्च करेंगे GST

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे र...

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के...

अयोध्या को लेकर आप निश्चिंत रहें, जो भावनाएं हैं, उन्हें पूरा किया जाएगा - योगी आदित्यनाथ

अयोध्या को लेकर आप निश्चिंत रहें, जो भावनाएं ...