श्रीलंका में 'वेसाक दिवस' पर मोदी ने कहा – ‘बुद्ध की धरती से शुभकामनाएं लेकर श्रीलंका आया हूं’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय श्रील

3 months ago
श्रीलंका में 'वेसाक दिवस' पर मोदी ने कहा – ‘बुद्ध की धरती से शुभकामनाएं लेकर श्रीलंका आया हूं’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने दो दिवसीय श्रीलंका दौरे पर है। कल वो श्रीलंका की राजधानी कोलंबो पहुंचे थे। जहां श्रीलंका के पीएम रानिल विक्रमसिंघे एयरपोर्ट पर खुद मोदी का स्वागत करने पहुंचे। इसके बाद दोनों देशो के प्रधानमंत्री गंगारमाता मंदिर पहुंचे और वहां पूजा अर्चना की। ऐसा माना जा रहा है कि दोनों देशों के रिश्तों को मजबूती देने के लिए पीएम मोदी वहां गए है, इसलिए इसे एक अहम् दौरा मन जा रहा है।

आज 'वेसाक दिवस' में शामिल हुए मोदी 

आज श्रीलंका दौरे के दूसरे दिन पीएम नरेंद्र मोदी यहाँ मनाये जाने वाले बौद्ध धर्म के सबसे बड़े पर्व 'अंतर्राष्ट्रीय विसाक दिवस' में शामिल हुए। इसके बाद पीएम ने भगवान बुद्ध की शिक्षाओं को प्रासंगिक बताते हुए कहा कि बौद्ध धर्म हमें सामाजिक न्याय की राह दिखाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मौके पर भारत और श्रीलंका के रिश्तों पर बौद्ध धर्म के प्रभाव को भी रेखांकित करते हुए कहा कि-

  • बुद्ध की धरती से शुभकामनाएं लेकर आया हूं, श्रीलंका का भारत से पुराना रिश्ता।
  • वेसाक दिवस भगवान बुद्ध की याद दिलाता है।
  • वाराणसी में भगवान बुद्ध ने पहला संदेश दिया।
  • बौद्ध धर्म भारत से श्रीलंका पहुंचा।
  • सम्राट अशोक बेटे और बेटी धम्म दूत बनकर श्रीलंका गए थे। 
  • वाराणसी से कोलंबों के लिए सीधी उड़ान सेवा शुरू होगी।

पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे से मोदी की मुलाकात

इससे पहले गुरुवार 11 मई को श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे (5.2-4) ने प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात करते की और दोनों देशों के बीच वर्षों से चले आ रहे द्विपक्षीय सहयोग की सराहना की।

भारतीय उच्चायुक्त तरनजीत सिंह संधु ने मीडिया से बात करते हुए  कहा, ‘मोदी के साथ राजपक्षे की बातचीत बहुत सौहाद्रपूर्ण रही और वह भारत श्रीलंका के बीच वर्षों से चले आ रहे सहयोग पर प्रसन्न है.’  उच्चायुक्त ने बताया कि मोदी ने राजपक्षे से मुलाकात उनके अनुरोध पर की है।

Comment