सूर्य नमस्कार और नमाज में है समानताएं - योगी आदित्यनाथ

लखनऊ में हो रहे तीन दिवसीय योग महोत्सव में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी शरीक हुए। यह इंदिरा गाँधी प्रतिष्ठान में प्रथम योग महोत्सव था, यहाँ योगी ने जनता के साथ अपने कई विचार भी व्यक्त किये। 

योगी ने योग के महत्व को बताया

Source = Mediaamantra

योगी ने सबको योग के महत्व को बताया, उन्होंने कहा कि योग कई बीमारियों से निजात दिलाने में मददगार है। इससे व्यक्ति पूरी जिंदगी स्वस्थ रहता है। उनके मुताबित व्यायाम आपको केवल शारीरिक फिटनेस देता है, लेकिन योग करके आप शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से तैयार होते है। 

इसलिए योगी आदित्यनाथ ने सबको योग करने की हिमायत दी, इतना ही नहीं उन्होंने योग को विश्वव्यापी बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रसंशा भी की। उन्होंने कहा कि यूपी सरकार की यह पूरी कोशिश रहेगी की योग जन-जन तक पहुंचे।

कहा की सूर्य नमस्कार और नमाज एक समान है

मुख्यमंत्री योगी ने यह भी कहा कि सूर्य नमस्कार और नमाज दोनों बिलकुल सामान है। सूर्य नमस्कार में जितने भी आसन और मुद्राएं आती है वही मुस्लिम बंधुओं के नमाज़ पढ़ने की क्रिया से मिलती-जुलती हैं। 

इसके अलावा उन्होंने ये भी कहा कि इस दौर में तो लोग साधु को भीख तक नहीं देते, किन्तु मोदी जी ने मुझे पूरा यूपी दे दिया, मुझे उनकी उम्मीदों पर खरा उतरना है।

बाबा रामदेव ने भी विचार व्यक्त किये 

इस अवसर योग गुरु बाबा रामदेव ने भी अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि देश की आज़ादी के 70 सालों के इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि पहली बार बड़े रूप में योग और योगी गौरवान्वित हुए हैं।


   
Comment
More News