मिथिलेश बरिया एक कवि जिसकी पंक्तियों का शाहरुख़ खान ने अपनी ट्वीट में किया इस्तेमाल

1 week ago
मिथिलेश बरिया एक कवि जिसकी पंक्तियों का शाहरुख़ खान ने अपनी ट्वीट में किया इस्तेमाल

भारत में सोशल मीडिया के विकास ने कई नए लेखकों शायरों और कवियों को उभरने का मौक़ा दिया है। जहाँ पुराने ज़माने में मुशायरों और कविसम्मेलनों में गिने चुने शायरों और कवियों को मौका मिलता था वहीं सोशल मीडिया के फैलाव ने सभी शायरों को एक स्पेस दी है जहाँ वो अपनी रचनात्मकता दुनिया के सामने एक क्लिक से पेश कर सकते हैं। 

सोशल मीडिया क्रांति ने पिछले करीब एक दशक में लेखकों, शायरों और कवियों की एक नई पौध तैयार कर दी है। ये नए  लेखक अब सोशल मीडिया से बाहर की दुनिया में भी अपनी सफलता के परचम लहरा रहे हैं। इन्ही नए लेखकों में से एक हैं कवि मिथिलेश बरिया।

मिथिलेश बरिया ट्विटर पर हिन्दी ट्वीट करने और समझने वालों में एक जाना पहचाना नाम हैं। पिछले कई सालों से ट्विटर पर पहले 180 अक्षरों में और बाद में 280 अक्षरों में मिथिलेश “हैशटैग एम बरिया” (#mbaria) के नाम से अपनी स्वरचित पंक्तियाँ ट्वीट करते आ रहे हैं। इनकी पंक्तियाँ ट्विटर पे बहुत पसंद की जाती है। 

मिथिलेश बरिया अब तक अलग अलग वक़्त पर ट्विटर पे करीब 2500 से ज्यादा पंक्तियाँ ट्वीट कर चुके हैं। हर पंक्ति में गहराई और भारतीयता का दर्शन होता है। पिछले दिनों इन्ही 2500 पंक्तियों में से 500 पंक्तियाँ छांट कर मिथिलेश बरिया ने की एक किताब आई।  किताब का नाम था “छोटी छोटी बातों में”। 

मिथिलेश जी पिछले हफ्ते फिर से चर्चा में तब आ गए जब शाहरुख़ खान जी ने अपनी नई फिल्म “ज़ीरो” का टीजर मिथिलेश की लिखी एक पुरानी पंक्ति के साथ बिना कोई क्रेडिट दिए ट्वीट कर दिया। एक लेखक को पैसे से ज्यादा अपने लिखे पंक्तियों पर मिले वाहवाही से ज्यादा ख़ुशी मिलती है।  क्रेडिट ना मिलने से मिथिलेश थोड़े नाराज हुए और निदिया में अपनी नाराजगी जताई भी। 

पर मिथिलेश जी की नाराजगी अब दूर हो गई होगी। क्योंकि शाहरुख़ ने अपनी भूल सुधारते हुए फिर से एक ट्वीट की, और इस ट्वीट में उन्होंने मिथिलेश की किताब “छोटी छोटी बातों में” की तस्वीर संलग्न करते हुए उन्हें धन्यवाद कहा और उन पंक्तियों के लिए शुक्रिया कहाँ जिनका उन्होंने बिना क्रेडिट दिए इस्तेमाल किया था।

शाहरुख़ खान जी के इस ट्वीट के जवाब में मिथिलेश जी ने भी कड़वाहट मिटाते हुए दो पंक्तियाँ शाहरुख़ के नाम ट्वीट की और ज़ीरो फिल्म के लिए शुभकामनाएं भी दी।

इस भूल सुधार में ज़ीरो फिल्म के निर्देशक आनद एल राय जी ने भी ट्वीट कर के कहा की छोटी छोटी गलतियों से मिथिलेश जी जैसे अच्छे इंसान से पहचान हुई, इसके साथ आनंद जी ने मिथिलेश को उनकी किताब के लिए शुक्रिया भी किया।

मिथिलेश बरिया जी ने अपने काव्यात्मक अंदाज में हीं ट्वीट कर के आनंद जी को धन्यवाद कह कर इस मामले का एक स्वस्थ अंत कर दिया।

Comment

Popular Posts