जब तक सूरज रहेगा, तब तक जीवित रहेगा टार्डीग्रेड

आठ पैरों वाले जीव जल रीछ को लेकर वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यह एक ऐसा जल जीव है जो सूर्य के नष्ट हो जाने पर भी अस्तित्व में रहेगा।

4 months ago
जब तक सूरज रहेगा, तब तक जीवित रहेगा टार्डीग्रेड

आठ पैरों वाले जीव जल रीछ को लेकर वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यह एक ऐसा जल जीव है जो सूर्य के नष्ट हो जाने पर भी अस्तित्व में रहेगा। हाल ही में इसे विश्व का अनश्वर जीव भी घोषित किया है। इसे टार्डीग्रेड के नाम से भी जाना जाता है। ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के अनुसंधानकर्ताओं द्वारा पता लगाया गया है कि इंसानों की अपेक्षा जल रीछ का अस्तित्व कम से कम 10 अरब साल से अधिक होगा।  

'साइंटिफिक रिपोर्ट्स' जर्नल में प्रकाशित अनुसंधानकर्ताओं ने बताया कि सूर्य के समाप्त होने तक धरती पर जल रीछ का जीवन बना रहेगा। साथ ही इस रिपोर्ट में यह भी कहा कि यदि एक बार जल रीछ के जीवन की शुरुआत हो गयी तो उसे खत्म करना मुश्किल होता है। यह अन्य ग्रहों पर जीवन की संभावना को जाग्रत कर देता है।

बिना भोजन पानी के रह सकता है जीवित रह

इस जल जीव के बारे में बताया गया है कि यह लगभग 60 वर्ष की आयु तक जीवित रह सकता है। जिसमें 30 वर्ष तक यह बिना भोजन-पानी के जीवित रह सकता है। साथ ही यह 150 डिग्री सेल्सियस में भी रह सकता है। यह गहरे समुद्र में भी रह सकता है और अंतरिक्ष के निर्वात तक भी। इसकी लम्बाई बढ़कर अधिकतम 0.5 मिलीमीटर तक हो सकती है।

क्या है टार्डीग्रेड ?

यह आठ-टाँगों वाला जल में रहने वाला सूक्ष्मप्राणी है। योहन गेट्ज़ा नामक जीववैज्ञानिक ने सन् 1773 में इसकी खोज की थी। यह जीव पृथ्वी पर पर्वतों से लेकर गहरे महासागरों तक और वर्षावनों से लेकर अंटार्कटिका तक लगभग हर जगह पाया जाता है। टार्डीग्रेड  समुद्र और झीलो के नीचे रहते है I ये जीव किसी भी वातावरण और परिस्थितियों में जीवित रह सकते है, लेकिन झीलों के नीचे स्थित अवसादो, ज्यादातर पानी वाले वातावरण में और काई के नम टुकड़ों पर रहना ज्यादा पसंद करते है।

यह तरह-तरह की परिस्थितियां झेल सकने वाला प्राणी है। यह भोजन न मिलने पर धीरे-धीरे लगभग पूरी शारीरिक क्रियाएं रोक लेते हैं और उनमें सूखकर केवल 3% जल की मात्रा रह जाती है। इसके उपरान्त जल व आहार प्राप्त होने पर यह फिर क्रियशील हो जाते हैं और शिशु जन सकते हैं।

Comment

Popular Posts