महिलाओं की सुरक्षा के लिए 17 साल के नौजवान ने बनाये ElectroShoe

हैदराबाद के 17 साल के युवा सिद्धार्थ मंडल ने लड़कियों और महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं को देखते हुए एक नया अविष्कार किया है।

6 months ago
महिलाओं की सुरक्षा के लिए 17 साल के नौजवान ने बनाये ElectroShoe

हैदराबाद के 17 साल के युवा सिद्धार्थ मंडल ने लड़कियों और महिलाओं के साथ हो रही घटनाओं को देखते हुए एक नया अविष्कार किया है। जिसकी मदद से उनके साथ होने वाली रेप और हिंसा जैसी घटनाओं रोकना बहुत आसान हो जायेगा।

एक चप्पल रोकेगी रेप और हिंसा

Source = Makeupandbeauty

सिद्धार्थ ने लड़कियों और महिलाओं के बचाव के लिए एक आधुनिक चप्पल बनाई है। इस चप्पल को पहनकर वे कही भी कही भी जा सकती है, क्योंकि इस चप्पल को पहनने के बाद अगर कोई लड़की को छूने की कोशिश करेगा तो उसे करंट लगेगा। इसके साथ ही इसमें एक ऐसा सेंसर लगा है जो घटना का अंदेशा होते ही उनके परिवार के सदस्यों और पुलिस को तुरंत इसकी जानकारी भी देगा।

सिद्धार्थ ने इस चप्पल का नाम "ElectroShoe" दिया है। उन्होंने  बताया है कि इस चप्पल को पहनकर किसी भी लड़की से कोई भी छेड़खानी नहीं कर सकता है।

क्या है इसकी खासियत?

Source = India

वैसे दिखने में यह चप्पल एक नार्मल चप्पल की तरह ही है, ताकि जब कोई लड़की इस चप्पल को पहन कर निकले तो कोई उस पर शक ना कर सके। इसकी एक खासियत यह भी है कि इसे चार्ज करने के लिए किसी भी बैटरी या चार्जर की जरुरत पड़ती है। यह बस इस चप्पल को पहनकर चलने से ही चार्ज हो जायगी। सिद्धार्थ ने इस चप्पल को बनाने के बाद खुद ही इसका टेस्ट एक लड़की को पहनना कर किया। जो वाकई में सही साबित हुआ। सिद्धार्थ के अनुसार लड़कियों को इस बात का ध्यान रखना होगा कि जब वो घर से बाहर जाने से पहले देख लें कि चप्पल (6.2-3) चार्ज है या नहीं।


निर्भया कांड से मिली प्रेरणा

Source = Avadhnama

सिद्धार्थ मंडल ने बताया है कि उनको इस तरह के डिवाइस का इनोवेटिव निर्भया कांड से ज्ञात हुआ है जो कि 16 दिसंबर 2012 में हुआ था। उन्हें इस घटना के बाद लगा कि लड़कियों की सुरक्षा के लिए कुछ ऐसा करना होगा, जिससे वो अपनी सुरक्षा का ध्यान खुद रख सकें, क्योंकि हर जगह पुलिस भी मौजूद नहीं होती है।


Comment

Popular Posts