मुसलमानों का मसीहा आजम खान निकला उनका दुश्मन - योगी ने दबोचा- देखें 10 खुलासे

अखिलेश सरकार के सबसे करीबी और अपने आप को मुसलमान

4 months ago
मुसलमानों का मसीहा आजम खान निकला उनका दुश्मन - योगी ने दबोचा- देखें 10 खुलासे

अखिलेश सरकार के सबसे करीबी और अपने आप को मुसलमानों का मसीहा बताने वाले आजम खान के बारे में आज हम आपके सामने कुछ ऐसे तथ्य रखने वाले है। जिन्हे जानकर आप ये सोचने पर मजबूर हो जायेंगे कि

क्या आजम खान सच में एक सच्चे मुस्लमान है?   

दरअसल, हम ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि आज तक उत्तर प्रदेश तथा देश के हर नागरिक को यही लगता रहा है कि आजम खान हमेशा मुसलमानों की भलाई के बारे में ही सोचते है, लेकिन आज हम आपकी इस गलत-फहमी को दूर करने वाले है। जी न्यूज़ ने अपनी एक रिपोर्ट में कुछ ऐसे खुलासे किये है, जिन्हे जानकर आपके पैरों तले जमीन खसक जाएगी। 

जी हाँ, किसी ने नहीं सोचा था कि मुसलमानों का मसीहा ही उनका सबसे बड़ा दुश्मन निकलेगा। आइये जानते है किया है पूरा मामला –


खुलासा न. 1 - जोहर यूनिवर्सिटी के लिए कब्रिस्तान से मिटटी चुराई

Source = Jauharuniversity

उत्तर प्रदेश के विधानसभा के अध्यक्ष आजम खान पर जमीन के घोटाले को लेकर कई आरोप सामने आये है। जी न्यूज़ द्वारा प्रसारित की गई एक रिपोर्ट्स के अनुसार आजम ने जोहर यूनिवर्सिटी (3.1-5) बनाने के लिए कब्रिस्तान की मिटटी का इस्तेमाल किया। आपको जानकारी के लिए बता दे कि मुस्लिमो में यदि कब्रिस्तान की मिटटी व्यक्ति के कपड़ो को छू भी ले तो उसे झट्कारे बिना वहां से वापिस नहीं आया जा सकता है, किन्तु आजम खान ने उसी मिटटी से यूनिवर्सिटी खड़ी कर दी। 

नियमो के अनुसार ऐसा नहीं किया जाता है, इस्लामी नियम इसे हराम मानता है। इसके बावजूद खुद को मुस्लिमो का भगवान बताने वाले आजम खान ने अपने फायदे के लिए इस कार्य को अंजाम दिया। आइये नजर डालते है आजम की गैरकानूनी हरकतों पर:- 

  • आजम ने रामपुर में मोहम्मत अली जोहर यूनिवर्सिटी बनाने के लिए सुन्नी कब्रिस्तान की मिटटी चुराई।
  • कब्रिस्तान से 5-5 फ़ीट मिटटी खोदी गयी। यहाँ तक कि 5 मकबरो को भी ढहाया गया, 200 कब्रे खोदी गयी, जिनमें हड्डिया भी निकली। इन कब्रों से निकली ईटे और मिटटी को यूनिवर्सिटी के भराव के लिए ले जाया गया।  
  • एक चौकाने वाली बात यह भी है कि इस कब्रिस्तान में उनके कुछ पूर्वजों की कब्रे भी थी, जिन्हे भी आजम ने नहीं बक्शा और खुदवा दिया। 
  • जब रामपुर आजाद हुआ था तब फैज़ुला खान साहब ने एक मस्जिद और मदरसा बनाया गया था। इसी मदरसा के पिछले हिस्से कब्रिस्तान से मिटटी चुराने का काम किया गया है।
  • जब उस मदरसा के केयर टेकर बब्बू खान ने इस मामले में आवाज उठाई तो उसने चुप रहने को कहा गया और धमकी दी गयी कि अगर इसके खिलाफ आवाज उठाई तो मंत्री जी से कह देंगे। इतना ही नहीं इन्हे झूठे केस में फसाकर केयर टेकर की पोस्ट भी छीन ली गयी। 
  • बब्बू खान ने बताया कि 25 दिन तक दो ट्रालियों और एक बुलडोजर को चलाया गया और यहाँ से मिटटी को ले जाया गया।
  • वक्फ़ कॉन्सिल की एक रिपोर्ट जो जी न्यूज़ के पास है, उस रिपोर्ट कब्रिस्तान के पास बने मोहल्ला मदरसा के पिछले हिस्से को भी तोड़ा तोडा गया है।

आजम की सफाई

Source = Newstrack

जब आजम खान से इस बारे में पूछा गया तो उनका कहना है; मोसिन रजान नकवी, कल्बे जवाद नकवी, एजाज़ अब्बास नकवी, जो कि आज के मीरज़ाफर और मीर सादिक है। वे नहीं चाहते है कि हमारे बच्चे और बच्चिया पढ़े। इन जमीनों पर तालीम के मंदिर बनाये गए है। 

योगी सरकार दिलाएगी इंसाफ

Source = Haqeqat

योगी सरकार द्वारा इस वफ्फ जमीन पर जाँच पड़ताल शुरू कर दी गयी है और सरकार का दावा है कि माफिया राज खत्म होगा और सबको इंसाफ मिलेगा।

यहाँ पढ़े:- खुलासा न. 2 -  ईदगाह को भी नहीं बख्शा आजम ने

Comment