योगी का एक्शन जारी - 100 साल में पहली बार यूपी ने देखा ये दृश्य

योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही सूबे ...

8 months ago
योगी का एक्शन जारी - 100 साल में पहली बार यूपी ने देखा ये दृश्य

योगी आदित्यनाथ के उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बनते ही सूबे का माहौल शुरुआत से ही काफी हलचल भरा हो चला है। पिछले २ से ३ दिनों में जो हुआ उसके बाद तो सभी को यकीं होने लगा है कि योगी ही वो शख्स है जो पीएम नरेंद्र मोदी के 'सबका साथ - सबका विकास' के सपने को साकार कर सकते है। नीचे पढ़े आखिर हम ऐसा क्यों कह रहे है।


टुंडे कबाब 100 साल में पहली बार बंद

Source = Akhandbharatnews

लखनऊ के टुंडे कबाब की दुकान बहुत मशहूर है, जो कभी बंद नहीं पढ़ती है, लेकिन योगी के एक्शन का असर ऐसा पढ़ा की पहली बार बुधवार के दिन भी टुंडे कबाब की दुकान बंद रही। आपको बता दे कि 100 साल में पहली बार ऐसा हुआ है। 

टुंडे कबाब की दुकान पर आने वाले लोगों का कहना है कि कबाब तो बहुत जगह मिलते है लेकिन ऐसे कबाब कही नहीं मिलेंगे। किन्तु दुकान बंद रहने के कारण बुधवार के दिन लोगो को वहां कबाब खाने को नहीं मिले। गुरुवार के दिन दुकान भले ही खुल गयी किन्तु भैंसे के गोश्त के कबाब  नहीं मिल पा रहे है। 

अब इन दुकान वालो को गोश्त देने वाले अब सप्लाई नहीं कर पा रहे। योगी की सरकार आने के बाद उत्तरप्रदेश में अवैध बूचड़खानों को सील कर दिया गया है, जिसका असर जायज कारोबारी पर भी पढ़ रहा है। 

जैसा कि योगी आदित्यनाथ ने चुनावों के दौरान वादा किया था कि वे अवैध बूचड़खानों को बंद करवा देंगे वैसा ही हुआ। जिन बूचड़खानों के पास प्रशासन को दिखाने के लिए कागजात नहीं थे उन्हें बंद करवा दिया है।


योगी के एंटी-रोमियो स्क्वाड एक्शन का लेखा-जोखा

योगी के सीएम का पद सम्हालते ही उन्होंने कई कार्यो को अंजाम दिया। उनके कई एक्शन में एंटी-रोमियो स्क्वाड भी शामिल है। उत्तर प्रदेश में छेड़खानी दूर करने और महिलाओ की सुरक्षा के लिए इस कार्य में एक डीएसपी के नेतृत्व में लगभग 30 पुलिसवाले रखे गए, जिनमें पांच महिला कॉन्स्टेबल भी शामिल है। 

यूपी में अभी चारों ओर पुलिसवाले घूम रहे हैं। हर जगह इस बात की तलाश जारी है कि कही कोई लड़कियों-महिलाओं को परेशान तो नहीं कर रहा है। इसके लिए न केवल ग्रुप बनाकर बैठे लड़को से पूछताछ जारी है बल्कि अकेले बैठे लोगो पर भी पूरा ध्यान दिया जा रहा है। 

पुरे दिन में पुलिस वालो को कई लोग मिले जिसमे एक गली में अपनी मोटरसाइकिल पर अकेले बैठे नीरज से भी पुलिसवालों ने सवाल किये। पांच पुलिसवालों ने उसे घेर लिया, और पुलिस अधिकारी ने सवाल दागा, "यहां क्यों बैठे हो...? क्या यह पिकनिक स्पॉट है...?"

नीरज थोड़ा घबरा गया और उसमे बताया कि पास में ही उसका कार्यस्थल है वो वापिस घर ही जा रहा है, बस पांच मिनट बैठकर थकान मिटा रहा है। अब आप भी सभी की तरह सोच रहे होंगे कि क्या हर अकेले दिखने वाले व्यक्ति को भी घेर लेना जायज़ है...? तो अधिकारी का भी जवाब जान लीजिये, "अकेले घूमने वाले से बात किए बिना कोई कैसे बता सकता है कि वह असल में कौन है...?"


योगी ने क़ानून-व्यवस्था पर भी दिया ध्यान

योगी कानून व्यवस्था को दुरुस्त करना चाहते है इसलिए वो गुरुवार के दिन अचानक से ही लखनऊ के हजरतगंज थाने पहुँच गए। योगी के हजरतगंज कोतवाली पहुंचने की ख़बर सुनते ही वहा हड़कंप मच गया। 

योगी ने वहाँ पहुचते ही कोतवाली कंपाउंड के हर दफ़्तर का मुआयना किया। उन्होंने वहा के रजिस्टर को देखा और पुलिस वालो को ताकीद दी कि वो परेशान जनता के लिए संवेदनशील बने और महिलाओं के साथ होने वाले अपराध को बहुत गंभीरता से ले।


Comment