ये है भारत में स्थित गर्म पानी के कुंड – स्नान से ठीक होते है रोग

धरती पर कई जगहें ऐसी है जहाँ पर ठण्ड के मौसम में भी गर्म पानी देखने को मिलता है।

2 years ago
ये है भारत में स्थित गर्म पानी के कुंड – स्नान से ठीक होते है रोग

धरती पर कई जगहें ऐसी है जहाँ पर ठण्ड के मौसम में भी गर्म पानी देखने को मिलता है। इन कुंडो की विशेष बात यह होती है कि इनमे चमत्कारिक गुण होने के कारण ये कई तरह के रोगों को ठीक कर देते है, जिनमे त्वचा सम्बन्धी रोग प्रमुख है। इसलिए हजारों की संख्या में लोग इन जगहों पर स्नान करने भी जाते है। आईये जानते है भारत में मौजूद ऐसे स्थानों के बारे में -

मणिकरण, हिमाचल प्रदेश

चमत्कारिक जल स्रोतों के विषय में इस जगह का नाम सबसे पहले लिया जाता है। धार्मिक दृष्टि से भी इस स्थान का बहुत महत्व है। मणिकरण में जगह-जगह पर कई गर्म पानी के जल स्रोत हैं। सल्फर, यूरेनियम और अन्य कई तरह के रेडियोएक्टिव तत्व मणिकरण में स्थित गर्म पानी के कुंड पाए जाते है। मणिकर्ण अपने गर्म पानी के चश्मों के लिए भी प्रसिद्ध है। यहाँ पर गर्म पानी के स्नान से चर्म रोग तथा गठिया जैसे रोग से ठीक हो जाते है। यहाँ पानी इतना गर्म होता है कि कुंड के जल से गुरुद्वारे के लिए चावल आदि पकाए जाते हैं।

तुलसी श्याम कुंड, गुजरात

गुजरात के जूनागढ़ में तुलसी श्याम कुंड स्थित है। इस कुंड में गर्म पानी के तीन अलग-अलग स्रोत पाए जाते है। इन तीनो कुंडो की यह विशेषता है कि इनमें पानी के तापमान अलग-अलग रहते है। इन तीनो कुंडो की यह विशेषता है कि इनमे पानी के तापमान अलग अलग रहते है। कुछ लोगो का मानना है कि इन कुंडो में सल्फर की मात्रा अधिक होने से यहां का पानी गरम रहता है। जबकि कई लोग इसे कुदरत का करिश्मा कहते है। सचाई क्या है ये आज तक पता नहीं चल पाया है।

अग्नि जल कुंड, ओडिशा

यह कुंड ओडिशा के अत्रि में स्थित है। जिसका तापमान हमेशा 55 डिग्री रहता है। यह कुंड सल्फर युक्त होने के कारण लोग यहाँ स्नान करके अपनी थकान दूर करते है। माना जाता है कि ऋषि अत्रि ने इस कुंड का निर्माण किया था।

60 गर्म पानी के कुंड, झारखंड

भारत के झारखंड राज्य में गर्म पानी के एक नहीं बल्कि 60 कुंड हैं। इनमें से ततलोई, थरई, पानी, नुंबिल, तपत पानी, सुसुम पानी, राणेश्वर, चर्क खुर्द, सिदपुर और सूरजकुंड प्रमुख हैं।

यूमेसमडोंग, सिक्किम

यह सिक्किम के सबसे प्रसिद्ध स्थानों में से एक है। यह कुंड 15,500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। यहाँ पर सल्फर युक्त जल के 14 कुंड हैं। जिनका तापमान लगभग 50 डिग्री रहता है। यहाँ के बोरोंग और रालोंग पर्यटकों के बीच बहुत ज्यादा लेाकप्रिय हैं।

पनामिक लद्दाख

नुब्रा वैली लद्दाख में सियाचिन ग्लेशियर से 9 किमी की दूरी पर स्थित है। यह स्थान गर्म पानी के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ का पानी इतना गर्म है कि आप इसे छू भी नहीं सकते है। इसमें आप पानी के बुलबुलो को भी साफ देख सकते है।

राजगीर के जल कुंड

यह जल कुंड पटना के समीप है। यह एक धार्मिक स्थल होने के साथ साथ एक खूबसूरत हेल्थ रेसॉर्ट के रूप में भी लोकप्रिय है। यहां पर आप 22 कुंडों में स्नान कर सकते हैं। जो रोगो को दूर कर देता है। इसमें ब्रह्मकुंड सबसे महत्वपूर्ण हैं जिसका तापमान  45 डिग्री सेल्सियस होता है। इसे पाताल गंगा भी कहा जाता है।

बकरेश्वर जल कुंड पश्चिम बंगाल

यह पश्चिम बंगाल का एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। यहाँ पर गर्म पानी के 10 कुंड है। जिसमें सबसे गर्म कुण्ड अग्नि कुण्ड है। जिसका तापमान 67 डिग्री सेल्सियस रहता है।

यमुनोत्री (उत्तराखंड)

यहाँ गर्म पानी के कई स्त्रोत है। लोग यहाँ काफी संख्या में आते है। यहाँ देवी यमुना का मंदिर है। लोग इस गर्म पानी से भोजन पकाते है और उससे प्रसाद के रूप में देवी को चढ़ाते है। यहाँ सबसे प्रसिद्ध कुंड सूर्य कुंड है, जिसका पानी काफी गर्म रहता है।

Comment

Popular Posts