पीएम मोदी ने कहा खत्म करेंगे आतंकवाद - लड़ाई में तुर्की भी देगा साथ

1 मई सोमवार के दिन, भारत और तुर्की ने आतंकवाद के लगातार बढ़ते खतरे को साझा चिंता करार दिया। तुर्की के राष्ट्रपति की मौजूदगी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोई भी कारण या तर्क आतंकवाद को उचित नहीं ठहरा सकता है। इस तरह के कार्यो को पनाह एवं मदद करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए।

पाक के समर्थक देश तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने भी आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में आज भारत को अपने देश की तरफ से पूर्ण सहायता देने का वादा किया।


रज्जब तैयब के साथ मोदी ने की कई मुद्दों पर चर्चा

आपको बता दे कि तुर्की के राष्ट्रपति रज्जब तैयब एर्दोगान भारत के दो दिन के दौरे (रविवार, सोमवार) पर आए थे। इस दौरन मोदी जी ने इनसे व्यापक चर्चा की और राजनीतिक एवं आर्थिक सहित द्विपक्षीय संबंधों के विस्तृत क्षेत्रों का जायजा लिया। मोदी जी ने एर्दोगान के साथ संयुक्त संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया और कहा कि हम ऐसे समय में जी रहे हैं जहां हमारा समाज हर दिन नए खतरे एवं चुनौतियों से जूझ रहा है। दुनिया भर में कुछ मौजूदा एवं उभरती सुरक्षा चुनौतियों का संदर्भ एवं आकार हमारे लिए समान चिंता का विषय हैं।

आतंकवाद रोकने के लिए साथ मिलकर काम करने की जरुरत

मोदी ने पाकिस्तान आधारित आतंकी संगठनों की तरफ साफ इशारा किया और कहा कि आतंकवादी नेटवर्क एवं उनके वित्तपोषण को रोकने के लिए मिलकर काम करने की जरूरत है। इसके अलावा मोदी ने आतंकवादियों की सीमा पार आवाजाही पर रोक लगाने पर भी जोर दिया।

मोदी ने कहा;

"राष्ट्रपति (एर्दोगान) और मैं इस समस्या से प्रभावशाली तरीके से निपटने की खातिर हमारे द्विपक्षीय एवं बहुपक्षीय दोनों सहयोग को मजबूत करने के लिए साथ काम करने पर भी सहमत हुए."

एर्दोगान ने कहा;

"आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में उनका देश हमेशा भारत के साथ रहेगा और आतंकियों को उनके ही बहाए खून में डूबो दिया जाएगा।"

आपको बता दे कि भारत की यात्रा से पहले एर्दोगान ने क्षेत्र में शांति सुनिश्चित करने के लिए कश्मीर मुद्दे का हल निकालने के लिए एक बहुपक्षीय वार्ता की वकालत की थी।

कश्मीर समस्या पर बोले एर्दोगान

16 अप्रैल के दिन तुर्की में हुए जनमत संग्रह में एर्दोगान (5.1-7) ने जीत हासिल की है। इसके बाद से एर्दोगान ने अपना कूटनीतिक दायरा बढ़ाना शुरू किया है, जिसके तहत वह भारत दौरे पर आए थे। उन्होंने विओन समाचार चैनल से एक साक्षात्कार में कहा "हमें (कश्मीर में) और लोगों को हताहत नहीं होने देना चाहिए. बहुपक्षीय वार्ता करके (जिसमें हम शामिल हो सकें), हम इस मुद्दे का एक बार में हमेशा के लिए समाधान करने की कोशिश कर सकते हैं।"



   
Comment
Most Popular
निस्वार्थ भाव से सेवा करता है आरएसएस, उस पर ऊँगली उठाना गलत - योगी आदित्यनाथ

निस्वार्थ भाव से सेवा करता है आरएसएस, उस पर ऊ...

पीएम मोदी ने कहा खत्म करेंगे आतंकवाद - लड़ाई में तुर्की भी देगा साथ

पीएम मोदी ने कहा खत्म करेंगे आतंकवाद - लड़ाई ...

तीन तलाक को राजनीतिक ना बनाये - यह पुरानी व्यवस्था जल्द खत्म होगी: पीएम मोदी

तीन तलाक को राजनीतिक ना बनाये - यह पुरानी व्य...

दुर्भाग्यपूर्ण घटना: महिला ने पीएम मोदी पर फेंका जूता - वीडियो वायरल

दुर्भाग्यपूर्ण घटना: महिला ने पीएम मोदी पर फे...

दिव्यांगों के विकास के लिए योगी सरकार की नई योजना - देखें कैसे मिलेगा लाभ

दिव्यांगों के विकास के लिए योगी सरकार की नई य...

क्या योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव का प्रचार कर रहे है?

क्या योगी आदित्यनाथ, अखिलेश यादव का प्रचार कर...

MCD Election Result: दिल्ली वालों के अच्छे दिन - आप के बुरे दिन - प्रचंड जीत की ओर बीजेपी

MCD Election Result: दिल्ली वालों के अच्छे दि...

देखें आजम खान की हैवानियत के अन्य खुलासे

देखें आजम खान की हैवानियत के अन्य खुलासे