जरूर पढ़े और नुक्सान से बचें - 1 अप्रैल 2017 से लागू होंगे ये नियम

आने वाले महीने की पहली तारीख यानि की 1 अप्रैल 2017, से आपकी आम जिंदगी में थोड़े बदलाव आने वाले है क्योंकि इस दिन देश में कई नियम बदलने वाले है। बैंक से लेकर रेलवे तक कई नियम बदल जायेंगे। इसके अलावा नकद लेन देन की सीमा भी निर्धारित की गई है। आइये नजर डालते है नए नियमो पर:- 

नगद लेनदेन की सिमा

Source = Livemint

बजट 2017 की हम बात करे तो इस दौरान वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कैश ट्रांजैक्शन (नकद लेनदेन) की लिमिट 2 लाख तक करने की बात कही थी, हाल फिलहाल यह तीन लाख है। अगर बदलावों को संसद की मंजूरी मिल जाती है तो अप्रैल से जुर्माने की रकम उतनी ही देनी होगी, जितनी अतिरिक्त रकम नगद में ली गयी है। 

उदहारण के लिए, यदि किसी व्यक्ति ने 5 लाख रुपए कैश में लिए है तो उसे 3 लाख रुपए का जुर्माना भरना पड़ सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि निर्धारित लिमिट यानि की 2 लाख रुपए से 3 लाख ज्यादा लिया जाएगा। राहत की बात यह है कि अगर कैश लेने वाले व्यक्ति इस लेनदेन के वैध सबूत दे देता है तो वो जुर्माने के भुगतान से बच जायेगा। 

इस नियम को दैनिक लिमिट पर लागु किया गया है। अर्थात कोई व्यक्ति एक दिन में कोई 2 लाख से ज्यादा रुपयो का लेनदेन नहीं कर पायेगा। यह नियम इवेंट्स पर भी लागु होगा, याने की एक दिन में बैंक से या फिर किसी भी तरह की डील में होने वाला नगद लेन-देन 2 लाख रुपए से अधिक नहीं होना चाहिए। 

इस नियम को कालाधन रखने वाले लोगों को पकड़ने के लिए बनाया गया है। यदि इस नियम को मंजूरी मिलती है तो किसी भी कार्यो मै जैसे शादी, पार्टिया, जमीन खरीदना, गहने खरीदना आदि पर आप एक दिन में 2 लाख रुपयो से ज्यादा का नकद लेनदेन नहीं कर सकते।


वाहनों को लेकर भी नए नियम लागु

1 अप्रैल 2017 से वाहनों पर भी नए एमिशन नॉर्म्स (उत्सर्जन मानदंड) लागु हो जायेंगे। इसका फैसला वर्ष 2015 में ही ले लिया गया था। इन एमिशन नॉर्म्स के तहत सारी ऑटोमोबाइल कंपनियों को बीएस-4 इंजन वाली गाड़ियां (टू-व्हीलर और फोर-व्हीलर) बेचनी होंगी।

इस नियम के लागु होने पर पुराने मॉडल की एक्टिवा जैसी स्कूटर और पल्सर जैसी बाइक आदि की खरीदारी और रजिस्ट्रेशन पर रोक लग जाएगी। इसलिए यदि आप नई गाड़ी खरीदने का प्लान कर रहे है तो एक बार उसके मॉडल और इंजन की जानकारी जरूर प्राप्त कर ले।


रेलवे में नई स्कीम

Source = India

रेलवे में भी 1 अप्रैल 2017 से नियमो को लेकर बदलाव होने वाले है। रेलवे में लागु होने वाले नए नियम की बात करे तो इसकी नई स्कीम में अब 'विकल्प' के तहत अब यात्री साधारण मेल ट्रेन के टिकट में भी राजधानी जैसी लग्जरी ट्रेन में सफर का लुफ्त उठा सकते है। 

दरहसल, इसमें होगा यूं कि यदि आपकी टिकट कन्फर्म नहीं होती है तो आपको अगली ट्रेन में जगह अलॉट हो जाएगी, फिर चाहें वो ट्रैन प्रीमियम/विशेष ही क्यों ना हो। इसके लिए कोई शुल्क भी नहीं वसूला जाएगा। लेकिन हाँ इसके लिए आपको टिकट बुकिंग के दौरान ही चुनाव करना होगा कि यह स्कीम आपको लेना है या नहीं। यदि आप इस स्कीम का विकल्प चुनते है तो वेटिंग टिकट के कैन्सेलेशन पर आपको किराया वापस नहीं मिलेगा, इसके बदले आपको अगले सफर का समय दे दिया जाएगा।

  • यात्रियों को वैकल्पिक ट्रेन को लेकर किसी भी तरह का अतिरिक्त शुल्क नहीं देना होगा।
  • यदि किराये में अंतर होता है तो रिफंड की सुविधा रखी गयी है। 
  • रेल यात्री को यदि अल्टरनेट ट्रेन में सीट आवंटित हो जाती है तो उसे सामान्य यात्री ही माना जाएगा और वो अपग्रेडेशन के पात्र होंगे।
  • वेटिंग लिस्ट वाले जो यात्री विकल्प योजना का चयन करते है, उन्हें चार्ट बनने के बाद पीएनआर स्टेटस चेक करना होगा। 
  • यदि वेटिंग लिस्ट वाले यात्री को, दूसरी ट्रैन में सीट मिल जाती है तो इस ट्रेन में बैठने की अनुमति नहीं होगी। 
  • जब विकल्प का चयन करने वाला कोई यात्री कैंसिल का विकल्प चुनता है इसके बाद उसे अल्टरनेट अकोमडेशन दे दिया जाता है और वो एक कन्फर्म्ड पैसेंजर के तौर पर माना जाता है। इसके बाद भी कैंसिलेशन के नियम नियमता लागू होंगे।

SBI में भी लागु होंगे नए नियम

Source = Indialivetoday

  • देश के सबसे बड़े बैंक SBI के भी कैश और एटीएम ट्रांजैक्शन को लेकर 1 अप्रैल से नए नियम लागु होने वाले है। 
  • अब आपके अकाउंट में केवल 3 बार फ्री डिपॉजिट हो सकेगा। इसके बाद होने वाले हर एक डिपॉजिट पर 50 रुपए चार्ज लगेगा। 
  • यदि आपका खाता मेट्रो सिटी ब्रांच में है तो उसमे कम से कम 5००० रुपए रखना जरुरी होगा। वही शहरी ब्रांच में 3००० रुपए, छोटे शहरों में 2000 रुपए और गांवों की ब्रांच में अगर खाता है तो कम से कम 1000 रुपए रखना अनिवार्य होगा। 
  • 5 ट्रांजैक्शन फ्री रहेंगे उसके बाद प्रति ट्रांजैक्शन 10 रुपए देना होगा। यदि आप अपने सेविंग्स खाते में 25,000 रुपए से ज्यादा अमाउंट रखते है, तो उपरोक्त एक भी नियम लागु नहीं होगा। 
  • हर तीन महीनो में लगभग 15 रुपए एसएमएस का चार्ज लगेगा।


   
Most Popular
ग्लोबल वार्मिंग कम करने के लिए बीफ बैन जरुरी - अमेरिकी शोध

ग्लोबल वार्मिंग कम करने के लिए बीफ बैन जरुरी ...

मोदी सरकार का कड़ा फैसला - पशुओं की खरीद-फरोख्त बूचड़खानों के लिए नहीं होगी

मोदी सरकार का कड़ा फैसला - पशुओं की खरीद-फरोख्...

मोदी के 3 साल - केंद्र सरकार की योजनाएं जिनका सीधा फायदा जनता को मिला

मोदी के 3 साल - केंद्र सरकार की योजनाएं जिनका...

मोदी के 3 साल - देवीय शक्ति में छुपा है मोदी के कठिन परिश्रम का राज

मोदी के 3 साल - देवीय शक्ति में छुपा है मोदी ...

पाक में बिहाई भारतीय उज्मा लोटी अपने देश, सुषमा को दिया धन्यवाद - कहा "पाक मौत का कुआं है”

पाक में बिहाई भारतीय उज्मा लोटी अपने देश, सुष...

सोनू निगम ने अभिजीत के सपोर्ट में ट्विटर के 7 मिलियन फॉलोअर्स को कह दिया गुड बाय

सोनू निगम ने अभिजीत के सपोर्ट में ट्विटर के 7...

70 सालों में जो नहीं हुआ वो 3 साल में कर दिखाया मोदी सरकार ने: अमित शाह

70 सालों में जो नहीं हुआ वो 3 साल में कर दिखा...

मोदी के तीन साल: अर्थव्यवस्था को फायदा पहुँचाने में सफल रही नोटबंदी

मोदी के तीन साल: अर्थव्यवस्था को फायदा पहुँचा...