ग्रैमी पुरस्कार 2017: भारत के संदीप दास और यो-यो मा की जुगलबंदी रही सर्वश्रेष्ठ

सर्वश्रेष्ठ विश्व संगीत श्रेणी में ग्रैमी पुरस्कार भारत के लिए एक अच्छी खबर लेकर आया है। आपको बता दें कि भारतीय मुल्क के तबलावादक संदीप दास और यो यो मा के टीम मेंबर्स ने वर्ल्ड म्यूजिक कैटिगरी में ग्रैमी अवार्ड अपने नाम किया है। दास सर्वश्रेष्ठ विश्व संगीत श्रेणी में यह पुरस्कार जीतने वाले पहले भारतीय बन गए है। संदीप दास, यो यो मा के सिल्क रोड एनसेम्बल के एल्बम ‘सिंग मी होम’ का हिस्सा थे।

भारतीय मूल की फेमस सितार वादक अनुष्का शंकर का एल्बम "लैंड ऑफ गोल्ड" भी ग्रैमी पुरस्कार के लिए नॉमिनेटेड था। जो कि दुनिया में शरणार्थियों की समस्या पर आधारित था, लेकिन वह ग्रैमी अवॉर्ड पाने से चूक गई हैं। अनुष्का भारत के मशहूर सितार वादक पंडित रवि शंकर की बेटी हैं। 20 साल की उम्र में उन्हें पहली बार ग्रैमी पुरस्कार के लिए नॉमिनेट किया गया था। बहरहाल उनके दिवंगत पिता के नाम दो व्यक्तिगत और दो साझा ग्रैमी पुरस्कार हैं।

यो यो मा के ‘सिंग मी होम’ की धुनें विश्वभर के विभिन्न कलाकारों ने तैयार की हैं। मालूम हो कि यह एल्बम मा के ‘दी म्युजिक ऑफ स्ट्रेंजर्स’ यो यो मा ऐंड ‘दी सिल्क रोड एनसेंबल’ नाम के प्रोजेक्ट पर बनी डॉक्युमेंटरी का हिस्सा है। मा और दास के अलावा इस एल्बम में शामिल अन्य संगीतकार हैं- न्यूयॉर्क के रहने वाले सीरियाई शहनाई वादक किनान अजमेह। अजमेह अमेरिकी राष्ट्रपति के यात्रा प्रतिबंध के आदेश के बाद विदेश में ही रहने को मजबूर थे। जब एक अदालत ने इस आदेश पर रोक लगाई तब जाकर अजमेह देश लौट सके। दास ने कहा कि एनसेंबल ने एकता और एक-दूसरे की संस्कृतियों के सम्मान का प्रभावशाली संदेश दिया है।


इस मौके पर दास ने कहा कि एनसेंबल ने एकता और एक-दूसरे की संस्कृतियों के सम्मान का प्रभावशाली संदेश दिया है. पुरस्कार लेने के बाद दास ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘जब ऐसी चीजें होती हैं तो हम पर इसका सीधा प्रभाव पड़ता है, क्योंकि हमने विभिन्न देशों का बहुत कुछ अपनाया है. वर्तमान में, मुझे लगता है कि हम और संगीत बनाते रहेंगे और प्रेम फैलाते रहेंगे. 

एडेल ने किए ट्रॉफी के दो टुकड़े -

ग्रैमी पुरस्कारों में ब्रिटिश गायिका एडेल ने लोगो का दिल जीत लिया, उनकी तारीफ़ वह मौजूद हर कोई कर रहा था। ग्रैमी पुरस्कारों के लिए उन्हें पांच श्रेणियों में नामांकन मिला था, जिसमें से वे सभी श्रेणियों में पुरस्कार जीतने वालो की सूची में एक लोती सफल गायिका थी। उन्हें गायिका बियोंसे पर आश्चर्यजनक जीत मिली। हालांकि एडेल ने यह कहते हुए अपनी ट्रॉफी के दो टुकड़े कर दिए कि बियोंसे उनसे ज्यादा महान हैं और वह बियोंसे के साथ ट्रॉफी को साझा करना चाहती हैं। आपको बता दे कि किसी भी समाहरो में आज तक ऐसा नहीं हुआ था।

   
Comment
Most Popular
सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहसास - अमेरिका में पीएम मोदी

सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहस...

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार की नस्लभेदी टिपण्णी पर दिया करारा जवाब

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार ...

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया...

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्करी का हैरान करने वाला खुलासा - देखें वीडियो

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्कर...

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्बुल के 5 आतंकी किये ढेर

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्ब...

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदियों पुराने कानूनों को किया खत्म

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदिय...

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लॉन्च करेंगे GST

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे र...

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के...