कश्मीर में देश की सबसे बड़ी सुरंग - युवा चुने टूरिज्म vs टेररिज्म - पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार, 2 अप्रैल को ...

4 months ago
कश्मीर में देश की सबसे बड़ी सुरंग - युवा चुने टूरिज्म vs टेररिज्म - पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार, 2 अप्रैल को ऊधमपुर में बनी एशिया की सबसे लंबी चेनानी-नाशरी सुरंग का उद्घाटन किया। उन्होंने बटन दबाकर इस सुरंग का उद्घाटन किया और इसे देश को समर्पित कर दिया। 

इसके बाद मोदी जी ने सुरंग के अंदर जीप से यात्रा भी की। कुछ देर जीप में रहने के बाद वे कुछ कदम पैदल चले और सुरंग का निरिक्षण किया। उन्होंने इस सुरंग की सुरक्षा पुख्ता करने के लिए सुरंग से सम्बंधित हर बारीकियां भी जानी।


कश्मीर के ऊधमपुर और रामबन जिलों को जोड़ती है सुरंग

Source = Financialexpress

यह देश की सबसे बड़ी सुरंग है जो जम्मू-कश्मीर के ऊधमपुर और रामबन जिलों को जोड़ती है। इस सुरंग से अपना रास्ता तय करने पर जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के 30 किलोमीटर लंबे खतरनाक, दुर्गम मार्ग से बचा जा सकता है।

कश्मीर के लोगों के लिए वरदान है सुरंग

Source = Timesofindia

इस दौरान आयोजित किये गए कार्यक्रम में मोदी ने कश्मीर को संबोधित करते हुए कहा, "कश्मीर के लोगों के लिए यह सुरंग वरदान है। कश्मीर के लोगों को अब अपने फल, फूल और सब्जियों को आसानी से बड़े मार्केट में पहुंचाने में आसानी होगी। केंद्र सरकार कश्मीर के विकास से लिए जी जान से लगी है।"

रोज 27 लाख रुपये के ईंधन की होगी बचत

उंचे पहाड़ों के नीचे से गुजरने वाली इस सुरंग के चलते जम्मू एवं उधमपुर से रामबन, बनिहाल और श्रीनगर जाने वाले यात्रीगण हर मौसम में सुरक्षित यात्रा कर सकेंगे ओर तो ओर इससे यात्रा का समय दो घंटे कम भी हो जायेगा। प्रधानमंत्री कार्यालय के अनुसार यह उम्मीद लगाई जा रही है कि इस सुरंग के जरिये रोजाना करीब 27 लाख रुपये के ईंधन की बचत हो सकती है।

विश्वस्तरीय सुरक्षा प्रणालियों से लैस है सुरंग 

इस सुरंग में विश्वस्तरीय सुरक्षा प्रणालियों को इस्तेमाल किया गया है। ये देश की सबसे बड़ी सुरंग तो है ही सबसे स्मार्ट सुरंग भी है। इस सुरंग मार्ग के जरिये जम्मू कश्मीर में पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा। सुरक्षा के लिए इस सुरंग में ऐसे कैमरे लगे हैं जो 360 डिग्री व्यू देते हैं। साथ ही 9.2 किलोमीटर की इस सुरंग में आपका मोबाइल नेटवर्क और इन्टरनेट आपका साथ नहीं छोड़ेगा।

3720 करोड़ लागत से बनी

इस सुरंग में विश्वस्तरीय खूबियां हैं। यह चिनैनी-नाशरी सुरंग करीब तीन सौ किलोमीटर जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर बन कर तैयार हो गई है। इसे बनाने में लगी लागत 3720 करोड़ रूपए है।



विश्वस्तरीय सुरक्षा प्रणालियों से लैस है सुरंग

Source = Timesofindia

इस सुरंग में विश्वस्तरीय सुरक्षा प्रणालियों को इस्तेमाल किया गया है। ये देश की सबसे बड़ी सुरंग तो है ही सबसे स्मार्ट सुरंग भी है। इस सुरंग मार्ग के जरिये जम्मू कश्मीर में पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा। सुरक्षा के लिए इस सुरंग में ऐसे कैमरे लगे हैं जो 360 डिग्री व्यू देते हैं। साथ ही 9.2 किलोमीटर की इस सुरंग में आपका मोबाइल नेटवर्क और इन्टरनेट आपका साथ नहीं छोड़ेगा।

3720 करोड़ लागत से बनी

इस सुरंग में विश्वस्तरीय खूबियां हैं। यह चिनैनी-नाशरी सुरंग करीब तीन सौ किलोमीटर जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर बन कर तैयार हो गई है। इसे बनाने में लगी लागत 3720 करोड़ रूपए है।

कश्मीर के युवाओं के सामने दो विकल्प

Source = Intoday

कश्मीर में पाक-प्रायोजित आतंकवाद पर मोदी जी ने कहा कि कश्मीर के युवाओं के सामने दो विकल्प टूरिज्म या टेरेरिज्म, जिसमे से उन्हें कोई एक चुनना है। मोदी ने कहा कि कश्मीर में कुछ लोग पाकिस्तान के कहने पर भटके हुए हैं और कश्मीर पर पत्थरबाजी करते हैं।

ऐसे लोगो को बता दिया जाये कि इसी कश्मीर के कई लोग इन्हीं पत्थरों को तराशकर न सिर्फ कश्मीर बल्कि पुरे भारत देश की किस्मत को चमका रहे हैं। सरकार कश्मीर के युवाओं के लिए काम कर रही है, उनमे युवाओं को शामिल होना है और ना केवल राज्य की बल्कि देश की तस्वीर भी बदलनी है। मोदी ने स्पष्ट रूप से कहा कि यहां के युवाओं को टूरिज्म और टेरेरिज्म में से एक को चुनना होगा।

युवाओं को सरकार का साथ देना होगा

मोदी ने कहा कि पाकिस्तान से इशारे पर किये जाने वाले आतंकी हमले का असर आम लोगों की जिंदगी पर पढता है। यहाँ मोदी का पूरा जोर टूरिज्म इंडस्ट्री पर था। उन्होंने कहा कि आतंकवाद ने टूरिस्म इंडस्ट्री को तबाह कर दिया है। एक वक्त था जब पर्यटन उद्योग कश्मीर की पहचान से जुड़ा हुआ था किन्तु आज पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद ने इसे तबाह कर दिया है। इन सब से उबरने के लिए और कश्मीर को दोबारा बनाने के लिए युवाओं को आगे आना होगा।

हिंसा छोड़कर विकास के रास्ते पर आगे बढे 

मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि 40 साल हो गए, कश्मीर में आतंकवाद के नाम पर बहुत खून बहा है, लेकिन इससे किसी को कुछ हासिल नहीं हुआ। मोदी ने पाकिस्तान को जवाब देते हुए कहा कि कश्मीर में हिंसा फैलाने की उसकी नीति से किसी को कुछ भी हासिल नहीं होने वाला। इसलिए आगे बढ़ने का एक ही रास्ता है और वो है विकास। यदि पिछले 40 साल में आतंकवाद से बाधित न होकर कश्मीर में टूरिज्म पर फोकस रहा होता तो आज हालात कुछ ओर होते।


Comment