यूपी में सिर्फ काम होगा - महापुरुषों की छुट्टियों की योगी ने कर दी छुट्टी

14 अप्रैल को बाबा भीमराव अम्बेडकर जयंती के कार्यक

5 months ago
यूपी में सिर्फ काम होगा - महापुरुषों की छुट्टियों की योगी ने कर दी छुट्टी

14 अप्रैल को बाबा भीमराव अम्बेडकर जयंती के कार्यक्रम पर उत्तरप्रदेश के नए मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने सभा को सम्भोदित करते हुए कहा था कि महापुरुषों की जयंती पर होने वाली सभी छुट्टियां बंद होनी चाहिए तथा बच्चो को उन महापुरुषों के जीवन के बारे में बातना चाहिए ताकि उन्हें जीवन जीने की प्रेरणा मिले।

योगी के इस कदम को यूपी कैबिनेट से मंजूरी भी मिल गई है। इसलिए अब से महापुरुषों के जन्मदिन और उनकी पुण्यतिथि पर होने वाले छुटटी बंद कर दी गई है। अब केवल महापुरुषों की जयंती पर राष्ट्रीय अवकाश पर ही सरकारी कर्मचारियों को छुट्टी मिला करेगी। दरअसल, योगी आदित्यनाथ ने यह निर्णय इसलिए लिया, क्योंकि उत्तरप्रदेश में अलग-अलग राज्य सरकार के आदेश द्वारा प्राप्त सभी छुट्टियां मान्य थी। जिसके चलते यहाँ पर सरकारी कर्मचारियों को सालभर में 194 छुट्टियां मिलती थी, जिसमे 40 पब्लिक हॉलीडे भी शामिल हैं।

छुट्टियों को बंद करने का कारण

इन छुट्टियों को ख़त्म करने का एक बड़ा कारण यह भी है कि अभी जितनी छुट्टियां यूपी के सरकारी कर्मचारियों को मिलती थी, इतनी छुट्टियां दुनिया में कही नहीं मिलती है। इन सब छुट्टी को गिने तो 194 सालभर की छुट्टी है यानी साल में साढ़े छह महीने की छुट्टी है।  

उत्तरप्रदेश में ऐसी छुट्टी है जिनका संबंध किसी भी महापुरुषों से नहीं है बल्कि उनका संबंध केवल जाति वालो को खुश करना है जैसे कि कर्पूरी ठाकुर की छुट्टी नाई समाज को, परशुराम जयंती की छुट्टी ब्राह्मणों को, चंद्रशेखर जयंती की छुट्टी ठाकुरों को, हजरत अली के जन्मदिन की छुट्टी शियाओं को, ख्वाजा गरीब नवाज के जन्मदिवस की छुट्टी सुन्नियों को... अंबेडकर परिनिर्वाण की छुट्टी दलितों को, निषादराज के जन्मदिन की छुट्टी पिछड़ों को, आचार्य नरेंद्र देव के जन्मदिन की छुट्टी कायस्थों को और छठ की छुट्टी पूर्वी यूपी वालों को खुश करने को की गई।


Comment