योगी के यूपी और शिवराज के एमपी में मिलेगा 5 रुपए में भरपेट भोजन

यूपी की योगी सरकार के कार्य तो जैसे रुकने का नाम ही नहीं ले रहे है। जहां एक ओर योगी सरकार ने एंटी रोमिओ स्क्वाड और अच्छी शिक्षा जैसे अहम् मुद्दों पर फैसला लिया है, वही दूसरी तरफ वे गरीबो के खानपान जैसी चीजों का भी ध्यान रख रहे है। 

आपको बता दे कि जल्द ही योगी सरकार तमिलनाडु में अम्मा कैंटीन की तर्ज पर अन्नपूर्णा भोजनालय शुरू करने जा रही है। इस भोजनालय की खासियत यह है कि यहाँ पर मात्र तीन रुपये में नाश्ता और पांच रुपये में खाना उपलब्ध कराया जाएगा।

सरकारी सूत्रों के अनुसार अन्नपूर्णा भोजनालय का मसौदा भी तैयार हो गया है। इसका एक प्रेजेंटेशन मुख्य सचिव देख चुके हैं जबकि 12 अप्रैल के दिन सीएम योगी भी इसका प्रेजेंटेशन देखने वाले हैं।

गरीबों के लिए फायदेमंद है यह योजना

Source = Patrika

यह योजना बनाने के पीछे का मुख्य मकसद गरीबो की मदद करना है। इसके लिए भोजनालय उन जगह पर खोला जायेगा जहां गरीब और मेहनतकश लोग ज्यादा है। यह भोजनालय सभी नगर निगमों में खोले जाएंगे।

इस योजना में ना केवल सुबह का नाश्ता बल्कि दिन का खाना और रात का डिनर भी होगा। अन्नपूर्णा भोजनालय यूपी के सभी नगर निगमों में खोले जाएंगे। आइये नजर डालते है इसके मेनू पर -

  • नाश्ते में - दलिया, इडली-सांभर, पोहा, चाय-पकोड़ा 
  • खाने में - रोटी, मौसम की सब्जियां, अरहर की दाल और चावल

मध्यप्रदेश में भी दीनदयाल अंत्योदय रसोई

Source = Sandhyadesh

उत्तर प्रदेश ही नहीं मध्यप्रदेश में भी यह रसोई योजना शुरू होगी। आपको बता दें कि 7 अप्रैल के दिन मध्य प्रदेश में दीनदयाल अंत्योदय रसोई योजना की शुरुआत की गई है। यहाँ केवल 5 रुपए में खाना उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना का नाम भाजपा के विचारक दीनदयाल उपाध्याय के नाम पर रखा गया है। शुक्रवार की शाम को मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्वालियर में इसका शुभारंभ किया था।

कम कीमत में पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन 

इस रसोई को खोलने के पीछे का उद्देश्य शहरों में दूर के गांवों से आए मजदूरों और गरीबों को कम कीमत पर पौष्टिक खाना उपलब्ध करवाना है। मध्यप्रदेश की नगरीय विकास मंत्री माया सिंह ने बताया, "हर जिला मुख्यालय में न्यूनतम एक स्थान पर दीनदयाल रसोई प्रारंभ की जायेगी. आवश्यकतानुसार बड़े शहरों में एक से अधिक केन्द्र स्थापित किए जा सकेंगें. दीनदयाल रसोई योजना से न सिर्फ कम कीमत पर गुणवत्तापूर्ण पौष्टिक और स्वादिष्ट भोजन उपलब्ध होगा बल्कि हर वर्ग के व्यक्ति को अपने सामाजिक दायित्व निभाने का अवसर भी मिलेगा"

माया सिंह ने कहा कि लगभग यहाँ लगभग 2,000 लोगों के खाने की व्यवस्था होगी। एक थाली में चार रोटी, एक सब्जी और दाल शामिल होगी। रोज 11 से तीन बजे के बीच लोग खाना खा सकते है।

गेहूं-चावल एक रुपये प्रति किलो

माया सिंह ने कहा कि इन रसोई केन्द्रों के लिए गेहूं एवं चावल एक रुपये प्रति किलो की दर से उपलब्ध करवाया जायेगा। इसके अतिरिक्त पानी तथा बिजली नगर निगम द्वारा नि:शुल्क दी जायेगी। उन्होंने यह भी कहा कि इस योजना की व्यवस्था की निगरानी जिला स्तरीय समन्वय एवं अनुश्रवण समिति करेगी। राशि का इंतजाम मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना योजना से होगा।

   
Comment
Most Popular
सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहसास - अमेरिका में पीएम मोदी

सजिर्कल स्ट्राइक से भारत ने कराया ताकत का एहस...

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार की नस्लभेदी टिपण्णी पर दिया करारा जवाब

'Tubelight' के नन्हे कलाकार माटिन ने पत्रकार ...

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया राष्ट्रपति का काफिला

जब सब-इंस्पेक्टर ने एम्बुलेंस के लिए रोक दिया...

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्करी का हैरान करने वाला खुलासा - देखें वीडियो

ब्रह्मपुत्र नदी से असम टू बांग्लादेश गौ तस्कर...

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्बुल के 5 आतंकी किये ढेर

24 घंटे 4 बड़े ऑपरेशन - सेना ने लश्कर और हिज्ब...

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदियों पुराने कानूनों को किया खत्म

मोदी सरकार ने 3 सालों में 1200 व्यर्थ और सदिय...

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी लॉन्च करेंगे GST

संसद के विशेष सत्र में 30 जून को रात 12 बजे र...

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार - बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह

रामनाथ कोविंद होंगे एनडीए के राष्ट्रपति पद के...