योगी की हुंकार - 300 से ज्यादा अवैध बूचड़खाने सील, लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त

लगता है अब उत्तर प्रदेश वाकई बदलने वाला है। जबसे ...

4 months ago
योगी की हुंकार - 300 से ज्यादा अवैध बूचड़खाने सील, लापरवाही नहीं होगी बर्दाश्त

लगता है अब उत्तर प्रदेश वाकई बदलने वाला है। जबसे योगी आदित्यनाथ ने यूपी के सीएम की कुर्सी संभाली है,प्रशासन और अधिकारी एकदम सक्रिय हो गए है। प्रदेश को अच्छा राज्य बनाने के लिए योगी ने कई आदेश दिए है जैसे सरकारी कार्यालयो में पान-गुठका खाने की मनाई, एण्टी रोमियो स्क्वॉयड, प्लास्टिक पर बेन और अवैध बूचड़खानों को सील करना आदि।  

300 से अधिक अवैध बूचड़खाने सील

Source = Uniindia

योगी सरकार द्वारा इन आदेशो के मिलते ही, प्रशासन अपना कार्य बहुत तेजी से कर रहा है। आपको बता दे कि ताजा खबरों के मुताबित 300 से अधिक बूचड़खानों को सील किया जा चूका है। 

मीट और मछली बेचने वालों को हटाया  

अवैध बूचड़खानों को हटाने का कार्य अभी भी जारी है। लेकिन इसके कारण बूचड़खानों में कार्य करने वाले लोगो का कहना है कि या तो सरकार उन्हें बूचड़खाने चलाने का लाइसेंस दे या फिर रोजगार उपलब्ध करवादे। सुनने में आया है कि पुलिस प्रशासन ने लखनऊ से लेकर हाथरस और मऊ से लेकर गोरखपुर तक सड़क पर मीट और मछली बेचने वालों को भी हटा रही है।

100 से अधिक पुलिसकर्मी सस्पेंड

सीएम योगी यूपी की कानून-व्यवस्था को भी ठोस बनाना चाहते है। कुछ खबरों के मुताबिक, योगी सरकार के बनने के बाद प्रदेश भर में अब तक 100 से ज्यादा पुलिशकर्मियो को सस्पेंड कर दिया गया है। इसमें से अधिकतर पुलिसकर्मी गाजियाबाद, मेरठ और नोएडा के है। इसके पीछे के कारणों को बताते हुए डीजीपी ने अपने अधीनस्थ पुलिस अधिकारियों से कहा;

 ”कुछ समय से अनुशासन के ऊपर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। ड्यूटी पर कार्यरत पुलिसकर्मी सही वर्दी नहीं पहन रहे हैं, वर्दी साफ-सुथरी नहीं है, टोपी सिर पर नहीं है एवं जूते निर्धारित शैली के नहीं हैं। ड्यूटी पर कार्यरत कर्मी चौराहों पर अखबार पढ़ते हुये, बातचीत करते हुये या मोबाइल फोन पर वार्ता करते हुये दिख जाते हैं और उन्हें किसी भी स्तर से न तो टोका जाता है और न सही प्रकार से ड्यूटी देने अथवा वर्दी धारण करने के लिये निर्देश दिये जाते हैं। ड्यूटी के समय सही वर्दी धारण करते हुये सतर्क रहना एवं अपने ड्यूटी स्थान पर एवं आस-पास की गतिविधियों पर पैनी नजर रखना ड्यूटी का हिस्सा है।”

सार्वजनिक जगहों पर शराब का सेवन नहीं कर सकेंगे

UP में एंटी रोमियो स्क्वायड के भी निर्देश दिए गए है। इसके चलते 11 जिलों के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश मिला है कि वे संवेदनशील जगहों पर ध्यान दे। स्क्वायड को इन बातो पर भी ध्यान देना होगा कि सार्वजनिक जगहों पर शराब का सेवन नहीं हो।

क्योकि ऐसा अक्सर ऐसा होता है कि शराब के नशे में लोग सामने गुजरने वाली लड़कियों या महिलाओ को छेड़ते हैं। एंटी स्क्वायड का कामकाज शुरू होते ही, अब तक पांच युवक गिरफ्त हो चुके है और तक़रीबन 934 लोगों से पूछताछ की गयी है।


योगी ने कामचलाऊ व्यवस्था को भी बंद करने को कहा

उत्तरप्रदेश में कानून का राज बनाए रखने के लिए योगी ने कई फरमान जारी किए हैं। खबरों के अनुसार शुक्रवार को भी उन्होंने अपने कैबिनेट के मंत्रियों और आला अधिकारियों के साथ बैठक भी की। इस दौरान उन्होंने कई आदेश दिए जो इस प्रकार है:- 

  • भ्रष्टाचार पर लगाम कसना है
  • अवैध पशु वधशालाओं पर सख्त कार्रवाई की जाये 
  • एसिड हमले के मामलों में सख्त से सख्त कार्रवाई करे
  • सरकारी इमारतों में पान-गुटखे पर प्रतिबन्ध
  • पुलिस अपने रवैये और कामकाज में परिवर्तन लाये

एण्टी रोमियो स्क्वॉयड के लिए स्पष्ट दिशानिर्देश तैयार करने को कहा 

एण्टी रोमियो स्क्वॉयड के लिए ऐसे निर्देश दिए गए है कि यदि कोई युवक और युवती उनकी आपसी सहमति से कहीं बैठे हैं या जा रहे हैं, तो उन पर कार्रवाई नहीं करना है। किन्तु एसिड अटैक के मामले में कठोर कार्रवाई के आदेश दिए है। 

योजनाओं में लापरवाही बर्दाश नहीं होगी।

योगी के मुताबित वे किसानों से जुड़ी किसी भी योजनाओं में कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं करेंगे। उन्होंने आदेश दिया है कि गेहूं खरीद की पारदर्शी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। मात्र 40 लाख टन गेहूं खरीद को नाकाफी बताते हुए उन्होंने कहा कि अधिकतम किसानों को राहत पहुंचाने के लिए लगभग 80 लाख टन गेहूं खरीद की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।


Comment