बूचड़खानों पर चला सरकार का चाबुक - अब बिक रहे दाल और लौकी के कबाब

19 मार्च के दिन योगी आदित्

6 months ago
बूचड़खानों पर चला सरकार का चाबुक - अब बिक रहे दाल और लौकी के कबाब

19 मार्च के दिन योगी आदित्यनाथ ने यूपी के सीएम पद की शपथ ग्रहण की थी। उन्होंने अपनी जनता से वादा किया था कि वे अवैध बूचड़खानों को सील करवा देंगे और ऐसा हुआ भी एक-एक करके कई गैरकानूनी बूचड़खानों को बंद कर दिया गया।

100 साल में पहली बार बंद रही टुंडे कबाब की दुकान

Source = Ketchupp

इसके चलते पूरे सूबे में गोश्त की कमी हो गई है। कई लोगो ने बीफ के कबाब देना बंद कर दिया। इस बंद का असर ऐसा हुआ है कि लखनऊ की सबसे प्रचलित टुंडे कबाब की दुकान पर भी ताला लग गया। हम आपको बता दे कि 100 साल में पहली बार ऐसा हुआ है कि टुंडे कबाब की दुकान पर बीफ के कबाब का लुफ्त लोग नहीं उठा पा रहे है।

बिक रहे है दाल के कबाब

Source = Aajtak

हालात तो इतने बत्तर हो गए है कि अब यहाँ दाल और लौकी के कबाब बिक रहे हैं। आपको बता दे कि पुराने लखनऊ में नॉन वेज का एक छोटा किन्तु फेमस होटल है। यह काफी लंबे समय से चल रहा है, लेकिन बूचड़खाने बंद होने के कारण यहाँ दाल के कबाब बनाये जा रहे है।

पांच रूपए है कबाब की कीमत

Source = Aajtak

अब लखनऊ के होटलो में दाल ही नहीं बल्कि सब्जियों के कबाब भी बनाए जा रहे हैं। भला जिन लोगो को बीफ के कबाब खाने की आदत हो उसे दाल के कबाब कहाँ फबने वाले है। लेकिन फिर भी हार ना मानते हुए और ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए होटल के मालिकों ने दाल और लौकी के एक कबाब की कीमत सिर्फ 5 रुपए रखी है। 

होटल के मालिकों ने बताया कि गोश्त नहीं मिल पा रहा है। दुकान बंद करने की स्तिथि आ गयी है इसलिए हमने यह कदम उठाया है।

लेकिन एक बात हम आपको बता दें कि योगी सर्कार द्वारा जो कदम उठाया गया है, उसका उन्होंने अपने चुनाव प्रचार के दौरान भी जिक्र किया था। परंतु शायद बूचड़खानों के मालिकों ने इसे बहुत हलके में लिया और जिसका परिणाम यह हुआ कि आज वो सभी सील हो चुके है।    


Comment