सुकमा हमले में घायल शेर मोहम्मद की मोदी से गुहार - जवानों को नक्सलियों से लड़ने की खुली छूट दें

सोमवार 24 अप्रैल के दिन, छत्तीसगढ़ के

5 months ago
सुकमा हमले में घायल शेर मोहम्मद की मोदी से गुहार - जवानों को नक्सलियों से लड़ने की खुली छूट दें

सोमवार 24 अप्रैल के दिन, छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर घातक हमला बोल दिया था। जिसके चलते 26 जवान शहीद हो गए और 6 जवान घायल हो गए थे। इस हमले में घायल एक जवान शेर मोहम्मद की हालत में अब तेजी से सुधर हो रहा है। यहाँ तक कि वे अब अच्छे से बातचीत भी कर पा रहे हैं। उनके बाजुओं और कमर में लगी गोलियों के छर्रे निकाल लिए गए हैं।

जवान अपने घायल साथियो का रख रहे है ख्याल

Source = Ndtvimg

इन जवानो को एक मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल में भर्ती किया गया है। शेर मोहम्मद से मिलने केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, हंसराज अहीर और मुख्यमंत्री रमन सिंह भी हॉस्पिटल पहुंचे। शेर मोहम्मद से मिलने से पहले राजनाथ सिंह ने तीन और घायल जवानों का हालचाल जाना। आपको बता दे कि इन जवानों के परिजन अभी तक नहीं पहुंच पाए हैं किन्तु CRPF के जवान अपने घायल साथियों का पूरा ध्यान रख रहे हैं।


ग्रामीण कर रहे है दगाबाजी

राजनाथ सिंह जब जवान शेर मोहम्मद से मिले तो मोहम्मद ने उन्हें सिलसिलेवार वहा का पूरा वाकया सुनाया। शेर मोहम्मद ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पुलिस और केंद्रीय सुरक्षा बलों को स्पेशल पावर देने की मांग भी की है। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों की दगाबाजी के चलते बस्तर में सुरक्षाबलों के जवान शहीद हो रहे हैं। मोहम्मद ने कहा कि नक्सलियों द्वारा CRPF और पुलिस पर हमला करने के लिए ग्रामीणों को ढाल की तरह इस्तेमाल किया गया है। 

ग्रामीणों को सामने की ओर रख कर नक्सली सुरक्षाबलों पर हमले करते हैं। यदि ऐसे में CRPF के जवान हमला करते तो ग्रामीण मारे जाते, इसलिए जवान फायरिंग भी नहीं कर पाए। किन्तु ग्रामीणों को ढाल बना कर नक्सलियों ने उन पर चौतरफा हमला कर दिया। जिसके चलते CRPF के 25 जवान शहीद हो गए।


जवानो ने भी दिया मुँह तोड़ जवाब

शेर मोहम्मद ने यह भी बताया कि नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में उन्होंने और उनके साथियों ने मुंहतोड़ जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि मैंने खुद तीन-चार नक्सलियों के सीने में गोली मारी है। हमले में तक़रीबन 300 नक्सली शामिल थे। उन्होंने कहा हम गिनती मे उनके आधे थे, इसके बावजूद भी हमनें उन्हें मुंहतोड़ जवाब दिया और लगातार फायरिंग चालू रखी।

Comment